चुनाव आयोग (election Commission) ने असम के मुख्यमंत्री और भाजपा नेता हिमंत बिस्व सरमा (Assam Chief Minister and BJP leader Himanta Biswa Sarma) को राज्य में विधानसभा उपचुनाव (assembly by-election) प्रचार के दौरान सड़क एवं अन्य विकास परियोजनाओं का वादा करके आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने के लिए सोमवार को 'कारण बताओ' नोटिस जारी किया। 

उन्हें मंगलवार की शाम पांच बजे तक नोटिस का जवाब देने को कहा गया है। नोटिस में कहा गया है, 'अगर उक्त समय सीमा के भीतर जवाब नहीं दिया जाता है तो आयोग आगे की कार्रवाई करेगा।'

आयोग ने कहा कि उसे दो शिकायतें मिलीं कि सरमा ने असम के मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (Chief Minister of Assam and Bharatiya Janata Party) के स्टार प्रचारक के तौर पर भवानीपुर, थावरा और मारियानी विधानसभा सीटों के लिए प्रचार के दौरान मेडिकल कॉलेज, पुल, सड़क, उच्च विद्यालय, स्टेडियम और खेल परिसर बनवाने की घोषणाएं कीं।

चुनाव आयोग ने कहा कि उन्होंने चाय बागान मजदूरों के स्वयं सहायता समूहों को वित्तीय सहयोग देने की भी घोषणा की। राज्य में 30 अक्टूबर को उपचुनाव होंगे और मतगणना दो नवंबर को होगी।