असम सरकार राज्य में शिक्षण संस्थान 2 नवंबर से शुरू करने जा रहा है। राज्य के शिक्षा मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि मार्च में लॉकडाउन के बाद से बंद चल रहे शैक्षणिक संस्थान 2 नवंबर से फिर से खुल सकेंगे।

उन्होंने कहा कि शैक्षणिक संस्थान कक्षा 6 से स्नातकोत्तर स्तर तक के छात्रों के लिए फिर से खुलेंगे हालांकि, कक्षा पांच तक के छात्रों के लिए स्कूल बंद रहेंगे।स्कूल में शामिल होना, छात्रों की ओर से स्वैच्छिक होगा। उन्होंने कहा कि उनके अभिभावक उन्हें स्कूल भेजने या न भेजने का फैसला लेंगे और इस साल जरूरी उपस्थिति जरूरी नहीं होगी।

निजी स्कूल और कोचिंग सेंटर 2 नवंबर से फिर से खुल सकते हैं और इन्हें COVID नियमों का पालन करना होगा। सरमा ने कहा कि इनमें से प्रत्येक को स्वास्थ्य विभाग के संपर्क में रहना होगा और इन संस्थानों में समय-समय पर परीक्षण किए जाएंगे। निजी स्कूलों को ऑनलाइन कक्षाओं के साथ जारी रखना चाहते हैं, तो सरकार को कोई आपत्ति नहीं है।

गृह मंत्रालय के ‘अनलॉक 5’ दिशानिर्देशों ने स्कूलों को 15 अक्टूबर के बाद धीरे-धीरे पूरे देश में फिर से खोलने की अनुमति दी है। हालांकि, निर्णय राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रशासन द्वारा लिया जाएगा।

सरमा ने कहा कि असम सरकार स्नातकोत्तर स्तर पर कक्षाएं फिर से शुरू करने के बारे में कोई निर्देश जारी नहीं करेगी। संबंधित विश्वविद्यालय कार्यकारी परिषद इस पर फैसला करेगी और नियमों का पालन करेगी।