नई दिल्ली। केंद्रीय पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने ओडिशा तट पर पारादीप पत्तन से माल ढुलाई क्षमता 2030 तक बढ़ाकर 50 करोड़ टन वार्षिक करने के निर्देश दिए हैं। सोनोवाल ने मंत्री के रूप में रविवार को इस बंदरगाह की अपनी पहली आधिकारिक यात्रा की और इस बंदरगाह परियोजनाओं की समीक्षा की। मंत्रालय की सोमवार को जारी विज्ञप्ति के अनुसार पारादीप पत्तन प्राधिकरण की बैठक के दौरान सोनोवाल ने विभिन्न बुनियादी ढांचा परियोजनाओं, पीपीए परियोजनाओं, पत्तन के कामकाज, ईज ऑफ बिजनेस पहल, हरित पहल और पत्तन की व्यापार विकास गतिविधियों की समीक्षा की।'

यह भी पढ़े : Diamond Crossing: भारत का अनोखा रेलवे ट्रैक, यहां चारों दिशाओं से आती है ट्रेनें फिर भी आज तक नहीं हुई कोई टक्कर

पारादीप पत्तन प्राधिकरण की बेबसाइट के अनुसार इसकी आकलित क्षमता 27.7 करोड़ टन वार्षिक है और इसे बढ़ा कर 2020 तक 32.5 करोड़ टन किया गया था। सोनोवाल ने वहां 29.68 करोड़ रुपये लागत के स्कैनर अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा जांच मानकों कंटेनर स्कैनर का उद्घाटन किया। इससे पत्तन में कंटेनर यातायात की आवाजाही को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने वहां पत्तन से मालवाहक वाहनों के निकलने के लिए एक निकास मार्ग -सह- फ्लाईओवर (गति-शक्ति परियोजना का हिस्सा) की आधारशिला रखी। 

यह भी पढ़े : VASTU TIPS: घर में आईना लगवाते समय उसकी दिशा का विशेष ख्याल रखें, इस दिशा में लगाने से बचें

अनुमानित 93 करोड़ रुपये की लागत वाला यह 2.4 किलोमीटर लंबा फ्लाईओवर तैयार हो कर मार्ग पत्तन के लिए आने जाने का एक और वैकल्पिक मार्ग प्रदान करेगा। पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्री ने वहां सीवरेज उपचार संयंत्र और पारादीप कॉलेज बॉयज हॉस्टल का उद्घाटन किया और आयुष गार्डन में वृक्षारोपण अभियान में भाग लिया। उन्होंने बीजू सम्मेलन केन्द्र का भी उद्घाटन किया और हितधारकों के साथ बैठक की तथा पारादीप पेट्रोलियम, केमिकल्स और पेट्रोकेमिकल्स इन्वेस्टमेंट रीजन (पीसीपीआईआर) के बारे में हुई प्रगति के संबंध में आईडीसीओ, आईओसीएल के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी की।