केंद्रीय बंदरगाह, नौवहन एवं जलमार्ग मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने बुधवार को केंद्र की पूर्ववर्ती कांग्रेस नीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि उसने व्यापक क्षमता से भरपूर पूर्वोत्तर क्षेत्र के विकास पर कभी ध्यान नहीं दिया। 

ये भी पढ़ेंः मुख्यमंत्री हिमंता सरमा ने श्री श्री उत्तरा कमलाबारी सातरा के 476 वें जन्म महोत्सव में लिया भाग


सोनोवाल यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने दावा किया केंद्र में अगर बदलाव आया है, तो वह नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के सत्ता में आने के बाद हुआ है। उन्होंने कहा,  कांग्रेस सरकार ने सत्ता में रहते हुए पूर्वोत्तर क्षेत्र के विकास को कभी महत्व नहीं दिया, जिसके कारण यह क्षेत्र अपनी विशाल क्षमता के बावजूद विकास रहित रहा, लेकिन भाजपा सरकार के सत्ता में आने के बाद से पूर्वोत्तर क्षेत्रों का विकास किया गया और उसे सभी राज्यों को राष्ट्रीय राजधानी से जोड़ा गया। 

ये भी पढ़ेंः असम की हिमंता बिस्वा कैबिनेट का होगा विस्तार, 2 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ


उन्होंने कहा कि आठ वर्षों से केन्द्र की नरेंद्र मोदी सरकार राष्ट्र सेवा कर रही है। यह उल्लेख करते हुए कि प्रधानमंत्री ने पूर्वोत्तर क्षेत्र की कनेक्टिविटी पर विशेष ध्यान दिया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा, पिछले कुछ वर्षों में भाजपा सरकार ने पूर्वोत्तर क्षेत्र को रेल, हवाई, सड़क और जलमार्ग से जोड़कर यहां की ‘कनेक्टिविटी’ को मजबूत किया है और अब ट्रांस अरुणाचल हाईवे को राज्य के हर जिला मुख्यालय से जोड़ा जा रहा है। उन्होंने मोदी सरकार द्वारा चलाई गईं कई योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि पूर्वोत्तर क्षेत्र के लाभार्थियों ने सरकार की कई कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठाया है। उन्होंने यह भी दावा किया कि पिछले आठ वर्षों में केंद्र ने पूर्वोत्तर क्षेत्र के विकास के लिए 2,63,000 करोड़ रुपये दिए हैं।