गुवाहाटी. भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा सोमवार को सिल्चर पहुंचे. नड्डा ने असम में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज मेरे लिए बहुत सौभाग्य की बात है कि आज इस विजय संकल्प रैली में मुझे आने का मौका मिला है. उन्होंने कहा मैं आयोजकों को बधाई देना चाहता हूं कि उन्होंने विजय संकल्प रैली की शुरुआत बराक वैली से की है, जहां भाजपा की नींव है. 

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि 2016 में यहां सरकार बनी और फिर चाहे लोकसभा चुनाव हो, विधानसभा उपचुनाव हो, जिला परिषद चुनाव हो, टेरिटोरियल कॉउन्सिल का चुनाव हो, बोडो टेरिटोरियल कॉउन्सिल का चुनाव हो, टीवा टेरिटोरियल कॉउन्सिल का चुनाव हो या पंचायत चुनाव हर जगह आपने भाजपा को समर्थन दिया है.

नड्डा ने कहा असम की भाषा को संभाल कर रखने की जिम्मेदारी हम सबकी है और हमने ये किया भी है. भूपेन हजारिका जी को भारत रत्न नरेन्द्र मोदी जी की सरकार ने दिया. गोपीनाथ बोरदोलोई जी को भारत रत्न से सम्मानित अटल जी की सरकार ने किया था. भाजपा प्रमुख ने कहा कि यूपीए की सरकार में असम के विकास के लिए सिर्फ 50,000 करोड़ रुपये दिए गए, जबकि मोदी सरकार में असम के विकास के लिए तीन लाख करोड़ रुपये दिए गए.

जेपी नड्डा ने कहा मुझे खुशी है कि जब मैं मोदी जी की सरकार में मंत्री था तो मैं गुवाहाटी को 1,350 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला एक एम्स दे पाया. अब यहां के लोगों को इलाज के लिए दिल्ली या कोलकाता नहीं जाना पड़ेगा.

जेपी नड्डा ने कहा कि हमें 1991 के हमारे प्रयास याद हैं और बराक घाटी हमें पूरे दिल से आशीवाज़्द देने वाले पहले क्षेत्रों में से एक थी. हमें इस घाटी से 9 विधायक और 2 सांसद मिले. नड्डा ने कहा भाजपा असम की अनूठी संस्कृति और भाषा का हमेशा ध्यान रखेगी. अटल बिहारी वाजपेयी असम आंदोलन का समर्थन करने वाली पहली राष्ट्रीय आवाजों में से एक थे.

जेपी नड्डा ने कहा बोडो संकट लगभग 50 दशकों से लटका हुआ था और ब्रू-रींग संकट भी, मोदी सरकार द्वारा हल किया गया. हमारी सरकार ने स्मार्ट फेंस प्रोजेक्ट की मदद से भूमि विवाद को भी हल किया. भाजपा अध्यक्ष ने कहा 30 प्रतिशत असम में स्वच्छ भारत मिशन से पहले शौचालय नहीं था. असम आज 100 प्रतिशत ओडीएफ है और निर्मित 11 करोड़ शौचालयों में से, 35 लाख यहां बनाए गए थे.