कोरोना की भयावह स्थिति के बीच असम सरकार ने राज्य में लॉकडाउन जैसे प्रतिबंधों को और कड़ा कर दिया है। सरकार ने राज्य में अंतर जिला आवाजाही को बंद कर दिया है। इसे 21 मई से 15 दिनों के लिए लागू किया जाएगा। इससे अब राज्य में दो जिलों के बीच कोई आवाजाही नहीं रहेगी। असम के राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कहा है कि अंतर जिला आवाजाही पर कड़ाई से रोक के बिना कोरोना को लेकर लगाई गई पाबंदियों के सकारात्मक नतीजे नहीं आ रहे हैं। 

राज्य में सोमवार को कोरोना के 6394 मामले सामने आए और 92 लोगों की मौत हो गई। बीते साल कोरोना आने के बाद से यह आंकड़ा सबसे ज्यादा है। हालांकि इस बीच पॉजिटिविटी रेट में थोड़ा सुधार हुआ है। पिछले कुछ दिनों से यह 8 से 9 फीसदी के बीच बना हुआ था जो अब घटकर 6.99 फीसदी हो गया है। सोमवार को राज्य में कुल 91,481 टेस्ट किए गए।

आदेश में स्पष्ट किया गया है कि सरकारी कर्मचारियों और आवश्यक सेवा से जुड़े लोगों के साथ चिकित्सा जरूरत होने की स्थिति में लोगों की आवाजाही पर रोक नहीं रहेगी। इसके साथ ही समानों की ढुलाई पर कोई रोक नहीं रहेगी। मेडिलक इमर्जेंसी और अंतिम संस्कार जैसे कामों के लिए आवाजाही की अनुमति लेनी होगी।