असम सियासी माहौल बहुत गर्म है क्योंकि राज्य के तिनसुकिया जिले में केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस राज्य मंत्री की उपस्थिति में एक कार्यक्रम के दौरान मंच की पिछली स्क्रीन पर एक अश्लील वीडियो क्लिप दिखाई दी थी। जिससे घमासान मच गया है। हालांकि प्रोजेक्टर ऑपरेटर को हिरासत में ले लिया गया है। पूरे मामले की गहनता से जांच की जा रही है।


जानकारी दे दें कि कथित घटना इंडियन ऑयल द्वारा तिनसुकिया में मेथनॉल-मिश्रित एम -15 पेट्रोल के पायलट रोलआउट के शुभारंभ के दौरान हुई थी। केंद्रीय राज्य मंत्री रामेश्वर तेली ने नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके सारस्वत, इंडियन ऑयल के अध्यक्ष एसएम विद्या, राज्य के श्रम मंत्री संजय किशन, असम पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड (APL) के अध्यक्ष बिकुल डेका और वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में एम-15 पेट्रोल का पायलट रोलआउट शुरू किया।
लॉन्च के बाद शहर के एक होटल में एक बैठक हुई जब कथित घटना हुई। सूत्रों के अनुसार, शर्मनाक घटना तब हुई जब इंडियन ऑयल का एक अधिकारी मंच पर अपना भाषण दे रहा था, जबकि एक प्रोजेक्टर स्क्रीन पृष्ठभूमि पर चल रही थी जिसमें मेथनॉल-मिश्रित पेट्रोल परियोजना की वीडियो क्लिप दिखाई दे रही थी। जब प्रोजेक्टर ऑपरेटर वीडियो क्लिप बदल रहा था, तभी अचानक प्रोजेक्टर स्क्रीन पर एक अश्लील फिल्म दिखाई दी, जिससे सभी हैरान रह गए।

वीडियो 3-4 सेकंड तक चला, इससे पहले कि ऑपरेटर ने जल्दबाजी में उसे काट दिया।
घटना के बारे में बात करते हुए, तेली ने कहा कि "उस समय मैं इंडियन ऑयल के एक अधिकारी द्वारा दिया जा रहा भाषण सुन रहा था। मैं स्क्रीन पर नहीं देख रहा था और इससे अनजान था। बाद में, मेरे पीए (निजी सहायक) मेरे पास आए। और घटना के बारे में बताया। डीसी भी वहां बैठे थे। मैंने उन्हें तुरंत जांच शुरू करने का निर्देश दिया। अगर यह सच है, तो दोषी व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।