असम में 5 सीटों पर उपचुनाव (Assam by-election) होने वाले हैं लेकिन उससे पहले सत्ताधारी भाजपा पार्टी और विपक्ष कांग्रेस (Congress) के बीच सियासी घमासान चल रहा है। बता दें ने चुनाव आयोग (EC) से संपर्क किया और असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा (CM Himanta Biswa Sarma) के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने और उन्हें आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के लिए प्रचार करने से रोकने के लिए कहा है।


बता दें कि असम की पांच विधानसभा सीटों के लिए 30 अक्टूबर को उपचुनाव होना है। कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) और असम के पार्टी प्रभारी जितेंद्र सिंह (Jitendra Singh) ने चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात की और आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के लिए सरमा के खिलाफ कार्रवाई शुरू करने के लिए उनके हस्तक्षेप की मांग की।
चुनाव आयोग को दिए गए ज्ञापन में कहा गया है कि "परिस्थितियों के मद्देनजर, हम चुनाव आयोग से एक प्राथमिकी दर्ज करने और हिमंता बिस्वा सरमा ((CM Himanta) को भ्रष्ट आचरण में लिप्त होने और आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के लिए प्रतिबंधित करने का निर्देश देने का आग्रह करते हैं।"इसमें आगे कहा गया कि "हम चुनाव आयोग से भी गोसाईगांव जिले के अधिकारियों के खिलाफ FIR दर्ज करने और निलंबन, हटाने और अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू करने का निर्देश देने का आग्रह करते हैं, जो सत्तारूढ़ भाजपा का पक्ष लेते हैं और कांग्रेस के खिलाफ कार्रवाई करते हैं।"