कछार (Cachar) जिले के खुलिचेरा में एक संदिग्ध कच्चे बम की बरामदगी के बाद असम-मिजोरम सीमावर्ती (Assam-Mizoram border) क्षेत्रों में एक असहज शांति बनी हुई है। एक निर्माणाधीन पुल स्थल के पास खुलिचेरा में स्थानीय लोगों द्वारा कच्चे बम को कथित तौर पर बरामद किया गया था।
अंतरराज्यीय सीमा के पास खुलचेरा इलाके में एक पुल का निर्माण किया जा रहा है। हमें जानकारी मिली कि विस्फोटक को एक नाले के पास रखा गया था और उसके साथ एक डेटोनेटर लगा हुआ है। इस बीच, गुवाहाटी से फोरेंसिक विशेषज्ञों का एक दल संदिग्ध कच्चे बम (bomb) की प्रकृति का पता लगाने के लिए असम के कछार जिले के मुख्यालय सिलचर पहुंचेगा।
जिस क्षेत्र में संदिग्ध कच्चा बम बरामद किया गया था और "सुरक्षा कारणों" के लिए गड्ढे में रखा गया था, उसकी घेराबंदी कर दी गई है। उधर, संदिग्ध बम की बरामदगी के बाद खुलिचेरा इलाके में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। तनावपूर्ण असम-मिजोरम सीमा (Assam-Mizoram border) पर पहले भी उपद्रवियों द्वारा बमबारी की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं।

पिछले महीने, असम पुलिस ने मिजोरम के एक पुलिस चौकी के पास एक विस्फोट में कथित संलिप्तता के आरोप में मिजोरम के एक पुलिसकर्मी को गिरफ्तार किया था। मिजोरम के सिपाही की पहचान कोलासिब जिले के भैरबी इलाके के निवासी भारतीय रिजर्व बटालियन (IRBN) के जवान लालदिंतवांगा के रूप में हुई है।

जांच के दौरान, हमने पाया कि मिजोरम (Mizoram) के बदमाशों ने विस्फोटक को ब्लास्ट करने के लिए डेटोनिंग कॉर्ड का इस्तेमाल किया था। हैलाकांडी के एसपी गौरव उपाध्याय ने कहा कि हमने विस्फोटक विस्फोट में शामिल होने के आरोप में मिजोरम के एक नागरिक को गिरफ्तार किया है।