कोरोना वायरस से शुक्रवार को चार लोगों की मौत हो गईं। होजाई के मानिक साहा (68), कामरूप नगर जिला निवासी मीनू वणिक (30), जोरहाट के गोपाल दास (68) और डिब्रुगढ़ के विजय शंकर (59) की मौत कोरोना से हो गई। 

इसके साथ ही राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 98 हो गई है। इस बीच कोरोना जांच की बढ़ती संख्या के बीच राज्य में संक्रमितों की संख्या रोजाना दो हजार के पार पहुंच गई है। लेकिन राहत की बात यह है कि कोरोना का हॉटस्पॉट बने गुवाहाटी में संक्रमितों की संख्या रोजाना के हिसाब से औसतन 300 से नीचे है, जबकि जांच की संख्या लगातार बढ़ रही है। जांच केंद्रों पर दुकानदारों और निजी कंपनियों में कार्य करने वाले लोगों की तादात लगातार बढ़ रही है।

दूसरी तरफ प्लाज्मा दान करने वालों की संख्या भी बढ़ रही है। बी.बरुवा कैंसर संस्थान के 25 स्वास्थ्य कर्मियों ने जो कोरोना से संक्रमित हो गए थे, प्लाज्मा दान किया है । राज्य सरकार ने जीएमसीएच के अलावा तेजपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भी प्लाज्मा तकनीक से कोरोना संक्रमितों का इलाज शुरू कर दिया गया है।

अस्पताल के स्टोर कीपर सह क्लर्क कुशल नाथ यहां प्लाज्मा दान करने वाले पहले व्यक्ति बने। प्लाज्मा दान करने वाले लोगों की बढ़ती संख्या पर खुशी जताते हुए स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हिमंत विश्व शर्मा ने कहा है कि कोरोना से चल रही जंग में संक्रमितों पर नजर रखना और उनका पता लगाना ही सबसे बड़ा हथियार है। इसे देखते हुए कोरोना जांच की संख्या को रोजाना 50 हजार तक ले जाने के लक्ष्य के साथ स्वास्थ्यकर्मी कार्य कर रहे हैं।

मालूम हो कि अब तक नौ लाख से अधिक लोगों की जांच की जा चुकी है। यानी प्रत्येक 10 लाख में से 25 हजार लोगों की जांच हो चुकी है। वहीं रिकवरी रेट 75.72 फीसदी तक पहुंच गईं है। राज्य में प्रति 10 लाख में से 1095 लोग संक्रमित हो चुके हैं। फिलहाल 100 लोगों की जांच करने पर करीब पांच लोग संक्रमित पाए जा रहे हैं।