असम में जिला पुस्तकालय सभागार में आयोजित एक कार्यक्रम में समाज कल्याण विभाग और जिला प्रशासन, सोनितपुर के संयुक्त सहयोग से महिलाओं और बच्चों के खिलाफ हिंसा (Violence) समाप्त करने पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का आयोजन 25 नवंबर से 10 दिसंबर तक राज्य में चल रही महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ हिंसा को रोकने के लिए चल रहे अभियान के तहत किया जा रहा है।
कार्यशाला में विभिन्न कॉलेजों के छात्र और अन्य हितधारक मौजूद थे। असम राज्य महिला आयोग (Assam State Commission for Women) की अध्यक्ष हेमा प्रभा बोरठाकुर, उपायुक्त भूपेश चंद्र दास, पुलिस अधीक्षक डॉ धनंजय घानावत, अध्यक्ष, सोनितपुर जिला परिषद, डॉली सुरीन, मंडल कार्यक्रम अधिकारी, संगीता बोरठाकुर, अध्यक्ष, बाल कल्याण समिति, दिलीप बरुआ, इस अवसर पर तेजपुर कॉलेज के पूर्व प्राचार्य एवं लेखिका समरोह, सोनितपुर की अध्यक्ष डॉ. चारू सहरिया नाथ, एडीसी (दप) द्योतिवा बोरा और अन्य विशिष्ट अतिथि उपस्थित थे।
इससे पहले दिन में उपायुक्त भूपेश चंद्र दास ने जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी में डीसी कार्यालय परिसर से जागरूकता रैली (awareness rally) को झंडी दिखाकर रवाना किया।