गुवाहाटी । असम गण परिषद के विधायक पवींद्र डेका के इस्तीफे पर प्रतिक्रिया वयक्त करते हुए अगप अध्यक्ष ने आज कहा कि असम के जातीय हितों की रक्षा सिर्फ अगप ही कर सकती है। उन्होंने कहा कि पवींद्र डेका अपने हिसाब से पार्टी चलाना चाहते हैं। 

क्षेत्रीय हितों के प्रति उनकी निष्ठा नहीं है। वे पहले पूर्वांचलीय लोक पार्टी में थे, फिर कांग्रेस में गए और उसके बाद अगप में शामिल हुए थे तो अगप ने उन्हें पूरा सम्मान दिया तथा विधायक पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाया फिर भी उनकी दल विरोधी गतिविधियों में शामिल रहे। हमने कभी उनका विरोध नहीं किया।

श्री बोरा ने कहा कि अगप से पवींद्र डेका दूसरी पार्टी में जाने का मौका तलाश रहे थे। कहा, जहां जाना है, जाएं, लेकिन अगप को बदनाम न करें। अगप इस विधानसभा चुनावों में ज्यादा अच्छा प्रदर्शन करेगी।