अंडाल थाना की पुलिस (Andal Police) ने अपहरण (kidnapping) के मामले का खुलासा करते हुए असम (Assam) के दो अपहृत व्यवसायियों (Assam Businessmen) को बरामद कर लिया है। जबकि अपहर्ता धीरज कुमार सिंह को भी गिरफ्तार कर लिया गया। उसके पास से एक सेवन एमएम पिस्तौल, चार कारतूस और एक रिवाल्वर एवं तीन कारतूस के अलावा भुजाली भी बरामद हुई है। पुलिस ने आरोपित को गुरुवार को दुर्गापुर कोर्ट में पेश किया, जहां उसकी जमानत नामंजूर हो गई एवं उसे पांच दिनों की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया। रिमांड अवधि में पुलिस पूछताछ कर अपहरण में शामिल धीरज के साथियों को गिरफ्तार करने की कोशिश करेगी। वहीं पुलिस आग्नेयास्त्र मिलने की घटना की भी गंभीरता से जांच कर रही है। कहां से इनके पास आग्नेयास्त्र आया, यह जानकारी लेने की कोशिश में पुलिस जुटी है। आरोपित धीरज नवकाजोड़ा चार नंबर का निवासी है। वह ईसीएल में ओसीपी बनने के पहले मिट्टी (ओबी) हटाने का ठेका भी लेता है।

बताया जाता है कि धीरज ने अपने पाकलेन को व्यवसाय के लिए असम के बिट्टू क्षेत्रीय एवं शब्बीर शहादत अहमद को दिया था। इन लोगों के बीच व्यवसायियों का कार्य चल रहा था। किसी काम से चार दिन पहले आरोपित ने असम के दोनों व्यवसायियों को बुलाया था। काजोड़ा आने पर धीरज ने अपने साथियों के साथ दोनों का अपहरण कर लिया एवं दोनों को नवकाजोड़ा के एक परित्यक्त क्वार्टर में रखा था। जिसकी सूचना बुधवार की रात पुलिस को मिली। पुलिस की टीम ने सक्रियता के साथ वहां छापेमारी कर दी। जहां से दोनों व्यवसायियों को बरामद किया, वहीं आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस का कहना है कि आरोपित से पूछताछ की जा रही है।

अभिषेक गुप्ता, पुलिस उपायुक्त दुर्गापुर, आसनसोल-दुर्गापुर पुलिस कमिश्नरेट ने कहा कि अपहरण के मामले में एक आरोपित को गिरफ्तार किया गया है। उसके साथ शामिल आरोपितों को गिरफ्तार किया जाएगा। इनके पास आग्नेयास्त्र कहां से आया। इसकी भी जांच चल रही है।