असम के सिपाझार में हुई खूनी झड़प को लेकर असम कांग्रेस ने हिमंता बिस्वा की राज्य सरकार पर चौतरफा हमला किया है। असम कांग्रेस के सांसद रिपुन बोरा ने झड़प की 'पारदर्शी' जांच के लिए दारांग जिले के डीसी और एसपी के तत्काल स्थानांतरण की मांग की है। बोरा ने दरांग जिले के डीसी और एसपी के तबादले की मांग करते हुए एसपी को असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के भाई होने पर जोर दिया, जो जांच प्रक्रिया को खतरे में डाल सकता है।



जानकारी दे दें कि विशेष रूप से, असम के दरांग जिले के एसपी सुशांत बिस्वा सरमा, असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के भाई हैं। इस झड़प में पुलिस फायरिंग में कम से कम 2 लोगों की मौत हो गई। इस झड़प में नौ पुलिस कर्मियों को भी चोटें आई हैं।

डीसी और एसपी का हो तुरंत ट्रांसफर- रिपुन बोरा

रिपुन बोरा ने कहा, "हम जांच में पारदर्शिता के लिए दरांग जिले के डीसी और एसपी (मुख्यमंत्री के अपने भाई होने के नाते) के तत्काल स्थानांतरण की मांग करते हैं।"
सीएम हिमंता असम को लगातार कर रहे हैं शर्मसार- गौरव गोगोई
इस बीच, असम कांग्रेस सांसद और लोकसभा में विपक्ष के उप नेता गौरव गोगोई ने कहा कि “मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा के अपने भाई दरांग जिले के अधीक्षक पुलिस हैं जहां बर्बर हिंसा हुई थी। यह स्पष्ट है कि यह सीएम-एसपी की जोड़ी बेदखली अभियान का शांतिपूर्ण समाधान नहीं चाहती थी। सीएम हिमंता असम को लगातार शर्मसार कर रहे हैं ''।