भारत में जापानी दूतावास ने मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन का पहला आधिकारिक दृश्य जारी किया है। दूतावास ने E5 सीरीज शिंकानसेन की तस्वीरें जारी कीं, जिसे जापान की बुलेट ट्रेन के रूप में भी जाना जाता है, जिसे मुंबई-और अहमदाबाद के बीच चलने वाली बुलेट ट्रेन के रूप में संशोधित किया जाएगा। जानकारी के लिए बता दें कि बुलेट ट्रेन परियोजना को 2023 तक पूरा करने के लक्ष्य के साथ मंजूरी दी गई थी। 508 किलोमीटर लंबाई की इस परियोजना को सरकार ने मंजूरी दे दी है।


इस परियोजना के पूरा होने के बाद, मुंबई और अहमदाबाद के बीच की दूरी केवल 2 घंटे में पूरी हो जाएगी। बुलेट ट्रेन 320 किमी प्रति घंटे की औसत गति से चलेगी, जिसकी अधिकतम गति 350 किमी प्रति घंटा होगी। इसे जापान सरकार की वित्तीय और तकनीकी सहायता से एक विशेष प्रयोजन वाहन अर्थात् नेशनल हाई-स्पीड रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (NHSRCL) द्वारा निष्पादित किया जा रहा है। परियोजना को दिसंबर 2015 में जापानी सरकार की तकनीकी और वित्तीय सहायता के साथ मंजूरी दी गई थी।


सरकार द्वारा बताया जा रहा है कि परियोजना की कुल अनुमानित लागत 1, 08,000 करोड़ रुपये है। साल 2023 में बुलेट ट्रेन भारत में दौड़ने लगेगी। वैसे तो 2020 साल कुछ ही दिनों में खत्म होने वाला है अब 2021 शुरू होने वाला है और दो साल बाद इंडिया में लोग  बुलेट ट्रेन की सवारी करेंगे। जापान की हाई टेक टेक्नोलोजी से भारत का विकास होगा और  मेट्रो की तरह जल्द ही बुलेट ट्रेन चलने लगेगी जिससे कई मीलों की दूरी कुछ ही मिनट में तय कर ली जाएगी।