असम की सरकार ने एक मस्जिद को सील कर दिया है,बताया जा रहा है कि यहां पिछले महीने एक धार्मिक कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए तीन लोग ठहरे थे और बाद में उनमें कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई थी। यह जानकारी शुक्रवार को स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्व सरमा ने दी है। सरमा ने बताया कि दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल होने के बाद उनमें से दो असम लौटे थे।


तीसरा उनके साथ अथगांव कब्रिस्तान मस्जिद में ठहरा हुआ था और उनमें से एक के साथ धुबरी गया था। इसी के साथ उन्होंने बताया कि मस्जिद में 12 मार्च को हुए समागम में कम से कम सौ लोगों ने हिस्सा लिया और आयोजकों ने अभी तक 58 लोगों के नाम दिए हैं और उन सभी को पृथक वास में रखा गया है। इसके बाद मस्जिद को सील कर दिया गया और इसे संक्रमित क्षेत्र घोषित कर दिया गया है।


जानकारी के लिए बता दें कि प्रशासन मस्जिद की देखभाल करने वालों और मस्जिद के अंदर ठहरे अन्य पदाधिकारियों को आवश्यक सामान मुहैया कराएगा। सरकार तीन में से एक व्यक्ति के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जा सकती है क्योंकि उसने जमात के कार्यक्रम में शामिल होने का तथ्य छिपाया। और कोरोना टेस्ट भी नहीं करावाया इतने लोगों की जान खतरे में डाली। बता दें कि असम में कोरोना के कारण एक की मौत हो गई है।