केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS), गुवाहाटी के MBBS छात्रों के पहले बैच को अच्छे डॉक्टर बनने के लिए ईमानदारी और समर्पण के साथ काम करने को कहा है। वर्धन ने चिकित्सा संस्थान के MBBS अकादमिक कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए यह बात कही है। शहर के असम प्रशासनिक स्टाफ कॉलेज में उद्घाटन समारोह आयोजित किया गया। हर्षवर्धन ने कहा कि छात्रों को अच्छे डॉक्टर बनने के लिए समर्पण के साथ कड़ी मेहनत करनी चाहिए ताकि वे भविष्य में समाज को सेवा प्रदान कर सकें।

उन्होंने कोविड-19 के खिलाफ सफल लड़ाई के लिए असम सरकार की भी सराहना की है। असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने असम में एम्स जैसे विश्व स्तरीय स्वास्थ्य संस्थान की स्थापना में सभी समर्थन देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को धन्यवाद दिया। सोनोवाल ने कहा कि देश के विकास के लिए पूर्वोत्तर को 'विकास के नए इंजन' में बदलने के मोदी के प्रयास से पिछले छह वर्षों में क्षेत्र के तेजी से विकास को बढ़ावा मिला है। उन्होंने प्रमुख चिकित्सा संस्थान की स्थापना के लिए असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के प्रयासों की सराहना की।


सोनोवाल ने कहा कि केंद्र और राज्य दोनों सरकारों के संयुक्त प्रयासों के कारण एम्स गुवाहाटी की स्थापना की गई है। भारत की युवा आबादी देश को विश्व व्यवस्था के शीर्ष पर ले जाने के लिए अत्यधिक संभावना रखती है। जानकारी के लिए बता दें कि नरेंद्र मोदी ने 26 मई, 2017 को एम्स गुवाहाटी की आधारशिला रखी थी। संस्थान की स्थापना के लिए केंद्र ने 150 करोड़ रुपये दिए थे। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री, अश्विनी कुमार चौबे भी इस अवसर पर उपस्थित थे।