असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा (Assam CM Himanta Biswa Sarma) ने "आदर्श आचार संहिता (Model Code of Conduct) के किसी भी प्रावधान के किसी भी अनजाने कमीशन / चूक के मामले में" चुनाव आयोग से "बिना शर्त माफी" मांगी है।


चुनाव आयोग (Election Commission) ने एक आदेश में कहा कि "आयोग, असम के सीएम हिमंता (CM Himanta) को चेतावनी जारी करता है और उन्हें भविष्य में अधिक सावधान रहने और संयम बरतने और आदर्श आचार संहिता के प्रावधानों का सख्ती से पालन करने के लिए आगाह करता है।"

चुनाव आयोग ने कहा कि उसे दो शिकायतें मिली हैं कि सरमा ने मुख्यमंत्री  (CM Himanta) और असम भाजपा (Assam BJP) के लिए नामित स्टार प्रचारक की हैसियत से भवानीपुर, थौरा और मरियानी विधानसभा सीटों पर विभिन्न चुनावी सभाओं में मेडिकल कॉलेज, पुलों, सड़कों की स्थापना के लिए घोषणाएं कीं।

चुनाव आयोग (Election Commission) ने कहा कि उन्होंने चाय बागान श्रमिकों (tea garden worker) के स्वयं सहायता समूहों को वित्तीय सहायता देने की भी घोषणा की। चुनाव आयोग ने असम विधानसभा में विपक्ष के नेता देवव्रत सैकिया और असम कांग्रेस अध्यक्ष भूपेन कुमार बोरा (Congress president Bhupen Kumar Borah) की शिकायतों के आधार पर असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा को नोटिस जारी किया था।