चुनाव आयोग (EC) ने असम के मंत्री अशोक सिंघल (Ashok Singhal) को आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया है। भाजपा के वरिष्ठ नेता और असम के कैबिनेट मंत्री अशोक सिंघल ने राज्य की पांच विधानसभा सीटों पर उपचुनाव (bypolls) के लिए प्रचार के दौरान कथित तौर पर आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया था।


असम कांग्रेस के नेता देवव्रत सैकिया ( Devvrat Saikia) की शिकायत के आधार पर चुनाव आयोग ने नोटिस जारी किया है। चुनाव आयोग ने असम के मंत्री अशोक सिंघल से आज शाम 5 बजे तक स्पष्टीकरण दाखिल करने को कहा है। असम कांग्रेस नेता देवव्रत सैकिया ने विधानसभा उपचुनाव से पहले आदर्श आचार संहिता (code of conduct) के उल्लंघन को लेकर राज्य मंत्री अशोक सिंघल के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई है।

असम विधानसभा के विपक्षी नेता देवव्रत सैकिया (Devvrat Saikia)ने मुख्य चुनाव आयुक्त को दी अपनी शिकायत में कहा, सिंघल ने "असंवैधानिक टिप्पणी करके" आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया। कांग्रेस नेता सैकिया ने आरोप लगाया कि  "राज्य के पांच निर्वाचन क्षेत्रों में उपचुनाव (bypolls) हो रहे हैं, लेकिन चुनाव प्रचार के दौरान यह देखा गया है कि अशोक सिंघल (Ashok Singhal) ने सार्वजनिक बयान देते हुए संवैधानिक प्रावधानों और आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है।"

उल्लेखनीय है कि पांच विधानसभा क्षेत्रों मरियानी, थौरा, गोसाईगांव, भाबाईपुर और तामुलपुर में 30 अक्टूबर को उपचुनाव होंगे।