मनीष सिसोदिया की मुसीबतें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। गुवाहाटी की एक स्थानीय अदालत ने दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को तलब किया है। असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा ने मनीष सिसोदिया के खिलाफ एक आपराधिक मानहानि का मामला दर्ज किया था, जब उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सरमा की पत्नी रिंकी भुयान सरमा को 2020 में व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों की आपूर्ति में भ्रष्टाचार के मामले में जोड़ा था, जब राज्य में पीपीई किट की कमी थी। सरमा 2020 में भाजपा के नेतृत्व वाली पहली राज्य सरकार के दौरान स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री थे।

यह भी पढ़े : Aja Ekadashi 2022: अजा एकादशी आज, इस एकादशी को करने से सभी पापों से मुक्ति मिलती है, जानें व्रत पारण का

वहीं, दिल्ली की एक अदालत ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन की पत्नी पूनम जैन को नियमित जमानत दे दी है। भाजपा ने विधायक राजा सिंह को पार्टी से निलंबित कर दिया है। साथ ही उन्हें कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है। उन्हें 10 दिन के अंदर जवाब देना होगा। बता दें कि उन्होंने पैगंबर पर टिप्पणी की थी, जिस वजह से यह कार्रवाई हुई है। 

यह भी पढ़े : Weekly Numerology : इन तारीखों में जन्मे लोगों के अच्छे दिन आज से शुरू होंगे , बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपा

उधर, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने कहा, 'मैं TRS सरकार द्वारा भाजपा तेलंगाना प्रदेश अध्यक्ष बंदी संजय की अवैध गिरफ्तारी की कड़ी निंदा करता हूं। अपने भ्रष्ट और परिवार केंद्रित शासन के खिलाफ राज्य के हर कोने से भाजपा को मिल रहे भारी समर्थन को देखकर केसीआर चिंतित हैं।