कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने मंगलवार को असम सरकार पर घोटाले का आरोप लगाया। उन्होंने असम सरकार पर रोजगार में बड़े घोटाले करने का आरोप लगाया है। सुरजेवाला ने एक ट्वीट में कहा, असम में अब रोजगार का “व्यापम स्कैम”, वो भी, सीएम और गृह मंत्री, सर्बानंद सोनोवाल की “नाक के नीचे।”

असम सरकार पर हमला बोलते हुए रणदीप सिंह सुरजेवाला ने 'नौकरी घोटाले' की क्रॉनोलॉजी भी बताई। सुरजेवाला ने कहा, 'सब इंस्पेक्टर के 597 पदों पर 66,000 युवा परीक्षा में बैठे। पेपर माफिया ने खुलेआम पेपर बेचा, पैसा लूटा। गिरफ्तारी के बावजूद किसी बड़े व्यक्ति ने राष्ट्रीय किसान मोर्चा भाजपा नेता, डेबन डेका को पुलिस से छुड़वाया। अब वो फरार है, पर भाजपा को पता नहीं।'

सुरजेवाला ने कहा, 'अब FIR दर्ज करने वाले SLPRB चेयरमैन का ही इस्तीफा। अब पूर्व DIG, पी.के दत्ता का पेपर लीक माफिया में नाम। चौंकिये मत, क्योंकि वो भी गायब हैं। डेबन डेका के फेसबुक के मुताबिक असम पुलिस के ‘काफी बड़े और भ्रष्ट अधिकारी’ शामिल हैं। सवाल सीधा है- असम के युवाओं का भविष्य सरेआम बेचा गया। पुलिस असली दोषियों को पकड़ नहीं पा रही है। दाल में काला नहीं, लगता है पूरी दाल ही काली है। क्या एक मिनट भी गृह मंत्री और CM सर्बानंद सोनोवाल को पद पर बने रहने का अधिकार है?'

इससे पहले असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष रिपुन बोरा ने भी गंभीर आरोप लगाया था। बोरा ने कहा था कि यह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की पुलिस बल में अपने काडर को घुसाने की तैयारी थी। इसलिए भाजपा के नेता इस प्रक्रिया में शामिल थे। कांग्रेस सहित कई विपक्षी दलों के नेता इस मामले में डेबन डेका का नाम ले रहे हैं। डेका फिलहाल फरार बताए जा रहे हैं।