असम में एक सिरफिरे प्रेमी के हमले में घायल हुई छात्रा की गुरुवार को मौत हो गई। लड़की की मौत के बाद समूचे राज्य में आक्रोश भड़क गया है। लोगों में कातिल प्रेमी के खिलाफ खासा गुस्सा है।

पुलिस ने बताया कि धेमाजी जिले के मोरीधल कॉलेज में बीए की छात्रा नंदिता सैकिया पर रिंटू शर्मा ने हमला कर दिया था जब वह शनिवार को कॉलेज से घर लौट रही थी। यह युवक उसके कॉलेज में ही गैर-शिक्षण स्टाफ है।

उन्होंने बताया कि सैकिया की दोस्त और दोस्त के पिता भी हमले में घायल हो गए। पुलिस ने बताया कि लखीमपुर में धाकुआखाना की निवासी सैकिया का डिब्रूगढ़ में एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था जहां बुधवार की शाम उसकी मौत हो गई।

हमले के तुरंत बाद कथित तौर पर फिल्माए गए एक वीडियो में शर्मा एक छुरे के साथ दिख रहा है और दावा कर रहा है कि सैकिया और उसके परिवार ने “उनके लिए सबकुछ करने के बावजूद मेरी जिंदगी बर्बाद कर दी।”

पुलिस ने अपराध के तुरंत बाद उसे हथियार के साथ गिरफ्तार कर लिया था। मोरीधल कॉलेज के छात्रों ने कहा कि दोनों कुछ समय तक प्रेम संबंध में थे, लेकिन सैकिया कुछ कारणों से अलग होना चाहती थी जिसका कारण उन लोगों को पता है।

उन्होंने बताया कि इससे शर्मा गुस्से में था जो मोरीधल कॉलेज में चतुर्थ श्रेणी का कर्मचारी था और वह उसे कुछ समय से उसे छोड़कर नहीं जाने के लिए मना रहा था।

सैकिया की मौत की खबर बाहर आते ही लोगों ने अपना आक्रोश व्यक्त करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया जब कई संगठनों ने सड़क पर उतरकर प्रदर्शन कर आरोपी के लिए 'सख्त से सख्त सजा' की मांग की।