पूर्वोत्तर में राज्यों के बीच इंटर बॉर्डर का विवाद जोर मार रहा है। हाल ही में राज्य विधानसभा में चौंका देने वाला सच्चाई सामने आई हैं, जिसमें असम के चार पड़ोसी राज्यों - मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड और मेघालय - ने असम (Assam) की 2,48,430 बीघा भूमि पर कब्जा कर लिया है।
यह खुलासा तब हुआ जब मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा (CM Himanta Biswa Sarma) इन चारों पड़ोसी राज्यों के साथ सीमा विवाद पर बातचीत कर रहे हैं। आज सदन में एक प्रश्न का उत्तर देते हुए, राजस्व और आपदा प्रबंधन (R&DM) मंत्री जोगेन मोहन (Jogen Mohan) ने कहा कि "मिजोरम ने 18,242 बीघा, अरुणाचल प्रदेश ने 81,688 बीघा, नागालैंड ने 1,43,649 बीघा और मेघालय ने 4,850 बीघा पर अतिक्रमण किया।

असम भूमि (Assam land) के "मिजोरम (Mizoram) को छोड़कर, अन्य तीन पड़ोसी राज्यों ने असम की वन और राजस्व भूमि पर कब्जा कर लिया।" मंत्री ने आगे कहा, "राज्य के भीतर 43,01,335 बीघा राजस्व और वन भूमि का अतिक्रमण है।"
इस बीच, विधानसभा के बाहर सीमा सुरक्षा और विकास मंत्री अतुल बोरा (Minister Atul Bora) ने कहा कि "अंतर-राज्य सीमा वार्ता सही दिशा में चल रही है। हमें 2022 तक उपयोगी समाधान की उम्मीद है।"