पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में भारतीय सेना के द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक का मुद्दा एक बार फिर गर्म हो गया है। अब तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव ने केंद्र सरकार से सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांगा है। पुलवामा हमले की बरसी पर सोमवार को मीडिया से बात करते हुए सीएम ने कहा कि मैं आज भी सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांग रहा हूं। सरकार को सबूत पेश करने दो। उन्होंने कहा कि भाजपा झूठा प्रचार करती है। 

चंद्रशेखर राव ने कहा कि सेना सीमा पर लड़ रही है। कोई मर रहा है, तो वह सेना के जवान हैं। उन्हें इसका श्रेय देना चाहिए, लेकिन भाजपा राजनीतिक रूप से सर्जिकल स्ट्राइक का उपयोग कर रही है। बता दें कि राव की टिप्पणी पर असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने आलोचना की है। 

सरमा ने राव के इस बयान का वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया, 'पुलवामा हमले की बरसी पर विपक्ष ने फिर सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाकर हमारे शहीदों का अपमान किया है। केसीआर और कांग्रेस गांधी परिवार के प्रति अपनी वफादारी साबित करने की होड़ में है। हमारी वफादारी भारत के साथ है। सशस्त्र बलों पर सवाल उठाने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।'

बता दें कि हिमंता बिस्वा ने शुक्रवार को सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर राहुल गांधी पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि जनरल बिपिन राव देश का गौरव थे। उनके नेतृत्व में भारत ने पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक की थी। आज राहुल गांधी सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगते हैं। क्या हमने आज तक सबूत मांगा है कि राहुल गांधी राजीव गांधी के ही बेटे हैं। उनको मेरे देश की सेना से सबूत मांगने का अधिकार किसने दिया। इस टिप्पणी के बाद चंद्रशेखर राव ने पीएम नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से बिस्वा को बर्खास्त करने की मांग की थी।