पश्चिम बंगाल में अपने चुनावी अभियान का आगाज करने के बाद भारतीय जनता पार्टी की नजर अब असम और तमिलनाडु पर भी है। पश्चिम बंगाल में 'एक मुट्ठी चावल' कैंपेन की शुरुआत करने वाले और ममता बनर्जी सरकार पर हमला बोलने वाले भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा अब असम और तमिलनाडु का दौरा करने वाले हैं। सोमवार को जहां नड्डा असम में रहेंगे, वहीं 14 जनवरी को वह तमिलनाडु की यात्रा पर रहेंगे। मामले से परिचित लोगों ने इस बात की जानकारी दी। बता दें कि भाजपा ने तमिलनाडु में एआईएडीएमके के साथ 14 जनवरी को गठबंधन का ऐलान किया है। 

असम में भाजपा सत्ता में है। पार्टी ने हालिया बोडोलैंड प्रादेशिक परिषद के चुनावों में बेहतर प्रदर्शन किया है और इसने पिछले चुनावों में सिर्फ एक की तुलना में नौ सीटें जीती हैं।। तिवा स्वायत्त परिषद (टीएसी) चुनावों में भी भाजपा ने 33 सीटें जीतीं। इस वजह से भाजपा के इरादे बुलंद हैं। 

भारतीय जनता पार्टी का मानना है कि अगर असम विधानसभा चुनावों में पार्टी की जीत होती है तो इसका मतलब होगा कि पूर्वोत्तर में प्रवेश द्वार माने जाने वाले राज्य असम में भाजपा की स्थिति काफी मजबूत हो गई है। पार्टी के एक अधिकारी की मानें तो असम दौरे के दौरान जेपी नड्डा पार्टी नेताओं के साथ बैठकें करेंगे, चुनावों की योजना बनाएंगे और गठबंधन से लेकर सीट बंटवारे के मुद्दे को सुलझाने की कोशिश करेंगे। 

भारतीय जनता पार्टी ने पहले ही संकेत दे दिया है कि वह इस बार BPF के बजाय यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल के साथ गठबंधन करेगी। बताया जा रहा है कि जेपी नड्डा एस दौरान एक रैली को भी संबोधित कर सकते हैं।  

भाजपा अध्यक्ष नड्डा 14 जनवरी को पोंगल समारोह के दौरान तमिलनाडु में होंगे। तमिलनाडु में जहां पार्टी के पास एक नई टीम है, भाजपा वोटरों को लुभाने के लिए और अपनी ओर वोटों को आकर्षित करने के लिए केंद्रीय योजनाओं पर फोकस कर रही है। इस बात की जानकारी एक अधिकारी ने दी।