बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने सोमवार को कांग्रेस की आलोचना करते हुए कहा कि वह जहां भी सत्ता में आती है वहां सिर्फ भ्रष्टाचार की गारंटी दे सकती है। साथ ही उन्होंने असम में एआईयूडीएफ से गठबंधन को लेकर कांग्रेस की आलोचना करते हुए कहा कि कभी इस पार्टी को तरुण गोगोई ने खारिज किया था। सुतिया के चुनावी रैली में नड्डा ने कहा कि 2006 के विधानसभा में जब गठबंधन की बात चली थी तो गोगोई ने बड़े तंज भरे लहजे में पूछा था कि 'अजमल कौन है?' (यहां अजमल से तात्पर्य एआईयूडीएफ प्रमुख बदरुद्दीन अजमल से है) और अब कांग्रेस उन्हें ही ''भाई-बंधु'' बता रही है। उससे पहले तक राज्य में रहने वाले मुसलमान आव्रजकों को कांग्रेस ने हमेशा वोट बैंक समझा।

बीजेपी नेता ने कहा, ''राजनीति और सत्ता वाकई अजीब हैं और इसे हासिल करने के लिए कुछ पार्टियां किसी भी हद को पार कर सकती हैं।''असम में 2001 से लगातार 15 साल सत्ता में रही कांग्रेस ने एआईयूडीएफ और छह अन्य दलों के साथ मिलकर महागठबंधन बनाया है जो 126 सदस्यीय विधानसभा के चुनाव में बीजेपी नीत राजग के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरेगा।एआईयूडीएफ के साथ गठबंधन के बारे में बारचाला में अपनी रैली में नड्डा ने कहा कि कांग्रेस सत्ता के लिए कुछ भी करने को तैयार है लेकिन ''मुझे यकीन है कि पार्टी के इस कदम के बाद दिवंगत मुख्यमंत्री (तरुण गोगोई) की आत्मा को शांति नहीं मिलेगी।''
उन्होंने सवाल किया, ''मैं सोच रहा हूं कि इस बारे में उनके बेटे (कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई) का क्या कहना है। क्या यही उनके पिता की विरासत को आगे ले जाने का तरीका है।''बीजेपी नेता ने कहा कि देश 'कांग्रेस मुक्त भारत' की ओर अग्रसर है। उन्होंने कहा, ''अभी भी कुछ राज्य बाकी हैं, लेकिन जल्दी ही सभी राजग का हिस्सा होंगे।'' ढाकुआखाना में एक अन्य रैली में बीजेपीअध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस ने असम में सत्ता मिलने पर पांच बातों की गारंटी का वादा किया है, लेकिन वह सिर्फ 'भ्रष्टाचार की गारंटी' दे सकती है। नड्डा ने यहां एक चुनावी रैली में कहा कि आजकल कांग्रेस के कई नेता असम आ रहे हैं और पांच गारंटी की बात कर रहे हैं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने हाल ही में असम में चुनाव प्रचार के दौरान पांच-गारंटी वाला अभियान शुरू किया।

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, ''60 साल तक कांग्रेस के नेता भ्रष्टाचार में लिप्त रहे, इस कारण पिछले पांच साल से हम सिर्फ गड्ढे भर रहे हैं, सड़कों की मरम्मत कर रहे हैं, दो लेन की सड़कों को चार और छह लेन की बना रहे हैं।'' बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि सिर्फ बीजेपी के पास मिशन है, जबकि ''कांग्रेस को तो सिर्फ कमीशन में दिलचस्पी है।'' उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस सिर्फ 'लटकाने', 'अटकाने', 'भटकाने' में यकीन रखती है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 'जोड़ने' में विश्वास करते हैं। नड्डा ने कहा, ''प्रधानमंत्री मोदी ने अपने प्रयासों से असम और पूर्वोत्तर राज्यों को भारत की मुख्यधारा से जोड़ा है।''

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के प्रयासों को राज्य में सर्बानंद सोनोवाल नीत बीजेपी सरकार ने मूर्त रूप दिया जिससे असम विकास के रास्ते पर आगे बढ़ा है। नड्डा ने कहा, ''इस सीट से 27 मार्च को बीजेपीके उम्मीदवार नबकुमार डोले को जीत दिलाने की जिम्मेदारी राज्य के लोगों की है और हम आपको आश्वासन देते हैं कि सरकार सभी लंबित कामों को अगले पांच साल में पूरा करेगी।'' नड्डा चुनाव प्रचार के सिलसिले में आज असम आए हैं। असम में 126 सदस्यीय विधानसभा के लिए तीन चरणों में 27 मार्च, एक अप्रैल और छह अप्रैल को चुनाव होने हैं।