कोरोना काल में माल के परिवहन के लिए चलाई गई किसान रेल को रेलवे एक बार फिर से शुरू करने जा रहा है। इस बार मालवा के लहसुन और प्याज असम के जोरहट भेजे जाएंगे। दोनों शहरों के बीच में 10 फेरे लगेंगे। रेलवे को इस ट्रेन से 80 लाख रूपये का राजस्व मिलने की उम्मीद है।

रतलाम मंडल रेल प्रवक्ता ने बताया कि पिछले साल पश्चिम रेलवे से प्रथम किसान रेल का परिचालन रतलाम मंडल के लक्ष्मीबाई नगर से न्यू गुवाहाटी के लिए किया गया था। जिससे रेलवे को काफी आय हुई थी। अब रेलवे बोर्ड द्वारा किसान रेल का परिचालन फिर से शुरू किया जा रहा है, जिसमें इस बार भी लक्ष्मीबाई नगर से किसान रेल की शुरुआत की जा रही हैं। उन्होंने बताया कि गाड़ी संख्या 00973 लक्ष्मीबाई नगर-जोरहट टाउन किसान रेल 26 जून से लक्ष्मीबाई नगर स्टेशन से हर शनिवार को रात 11 बजे चलकर मंगलवार को सुबह 5.00 बजे जोरहट टाउन पहुंचेगी।

इसी प्रकार गाड़ी संख्या 00974 जोरहट टाउन- लक्ष्मीबाई नगर किसान रेल 30 जून से हर बुधवार को जोरहट टाउन से सुबह 6.00 बजे चलकर शुक्रवार को दोपहर 12.00 बजे लक्ष्मीबाई नगर पहुंचेगी। रेलवे सूत्रों ने बताया कि रास्ते में ट्रेन में माल लोड करवाने के लिए रेलवे ने अधिकारियों की टीम भी लगाई है। ट्रेन का दोनों दिशाओं में बीना, बाइहाटा एवं चांगसारी स्टेशनों पर ठहराव दिया गया है। इन स्टेशनों पर ठहराव की निर्धारित समयावधि में माल की लोडिंग अनलोडिंग की जाएगी।