पूर्वोत्तर के असनम राज्य में में पुलिस भर्ती को लेकर घोटाला सामने आया था। अभी तक भी  इस घोटाले का मामला शांत हुआ नहीं की एक और जॉब घोटाले का मामला दर्ज हुआ है।  डिब्रूगढ़ पुलिस ने AMCH के एक डॉक्टर के खिलाफ एनएफ रेलवे में नौकरी हासिल करने का वादा करके कथित तौर पर एस्पिरेंट्स से पैसे लेने का मामला दर्ज किया गया है। बेरोजगारी में बहुत ज्यादा बढ़ रही है। नौकरी ना मिलने के कारण लोग रिश्वत देने और लेने का रास्ता अपना रहे हैं।


इसी तरह से असम मेडिकल कॉलेज अस्पताल (AMCH) के डॉ. अजंता हजारिका पर पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे में उनके लिए नौकरी हासिल करने का वादा करके उम्मीदवारों से पैसे लेने का आरोप लगाया गया है। सोशल मीडिया में वायरल हुई एक टेलीफोनिक बातचीत में डॉ. हजारिका ने कथित रूप से एनएफ रेलवे में नौकरियों के बदले पैसे मांगते सुना गया है। यह भी आरोप लगाया गया है कि उसने पहले ही एनएफ रेलवे में नौकरी हासिल करने का वादा करके तीन व्यक्तियों से 22 लाख रुपये लिए थे।


बताया जा रहा है कि डॉ. हजारिका ने कथित तौर पर उम्मीदवारों से धन संग्रह के लिए अपने ड्राइवर का इस्तेमाल किया है। आरोप लगाने वालों उम्मीदवारों ने बताया कि डॉ. अजंता हजारिका का ड्राइवर हमारे पास ही रहता है। एक दिन उसने हमें बताया कि वह रेलवे में नौकरी पाने में वो हमारी मदद कर सकता है। उन्होंने डॉ. अजंता हजारिका से जोड़ा और उन्होंने बताया कि उनके मंत्री के साथ संबंध हैं और हमें रेलवे में नौकरी मिल सकती है। '' डॉ. हजारिका ने कुल 22 लाख रुपये लिए और नौकरी देने का वादा किया।


उम्मीदवारों ने कहा कि  जब उन्होंने उसे हमारे पैसे वापस करने के लिए कहा, तो डॉ. अजंता हजारिका ने हमें गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी और बताया कि वह असम के एक मंत्री के करीबी है। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए डिब्रूगढ़ की पुलिस ने डॉ. अजंता हजारिका के खिलाफ 3 पीड़ितों की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया है। डिब्रूगढ़ पुलिस के अधीक्षक, प्रीतेक कुमार थुबे ने कहा कि तीन उम्मीदवारों में से डॉ. अजंता हजारिका ने कथित तौर पर पैसा लिया थे। इसका मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच शुरू कर दी है।