किसी खास खबर को ब्रेकिंग के तौर पर फ्लैश करने से पहले उसकी पुष्टि करने के लिए न्यूज चैनलों (news channels) के धैर्य की कमी एक बार फिर सामने आ गई है। 31 अक्टूबर को असम के दारंग जिले के डलगांव थाना क्षेत्र के बेसीमारी में एक सड़क हादसे में एक बच्चे समेत पांच लोगों की मौत हो गई थी।


असम में समाचार चैनलों (Assam news channels) ने यह कहते हुए एक ब्रेकिंग न्यूज दिखाने में कोई समय बर्बाद नहीं किया कि असम के बारपेटा जिले का एक युवा YouTuber पांच मृतकों में से था। असम के एक न्यूज चैनल ने कहा कि  "13 वर्षीय यूट्यूबर सानिया अख्तर (YouTuber Sania Akhtar) की दरांग दुर्घटना में मौत हो गई।"
हालांकि, उक्त YouTuber जीवित है और समाचार चैनलों द्वारा 'फर्जी' समाचार प्रसारित करने के बाद बहुत मानसिक आघात से गुजर रहा है।  यूट्यूबर सानिया अख्तर (YouTuber Sania Akhtar) ने कहा कि  "मैं अभी भी जीवित हूं," युवा YouTuber ने कहा, "मैं और मेरे परिवार के सदस्य समाचार चैनलों में मेरी तस्वीरों को देखकर चौंक गए जहां उन्होंने मुझे मृत घोषित कर दिया।"

यूट्यूबर सानिया अख्तर (YouTuber Sania Akhtar) ने आगे समाचार चैनलों और समाचार पोर्टलों से उनकी मृत्यु से संबंधित सभी 'फर्जी' समाचारों को अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से हटाने का आग्रह किया। असम के दरांग जिले के डलगांव थाना क्षेत्र के बेसीमारी में रविवार को एक सड़क दुर्घटना में एक बच्चे समेत पांच लोगों की मौत हो गयी और कम से कम तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गये।