देश के मशहूर कथक नर्तक (Legendary Kathak Dancer) पंडित बिरजू महाराज का हार्ट अटैक की वजह से निधन हो गया है। बिरजू महाराज (Birju Maharaj) के पोते स्वरांश मिश्रा ने सोशल मीडिया के जरिए इसकी जानकारी दी। बिरजू की यह खबर सुनते ही पूर्वोत्त राज्य असम के मुख्यमंत्री हिमंता (Himanta) ने शोक व्यक्त किया है।


हिमंता ने ट्वीट कर दुख जताते हुए कहा कि कथक सम्राट, पद्म विभूषण पंडित बिरजू महाराज (Birju Maharaj) जी ने कथक नृत्य की प्राचीन भारतीय शैली और लखनऊ घराने की समृद्ध नृत्य परंपरा को दुनियाभर में गौरवान्वित किया। उनके ब्रह्मलीन होने से भारतीय कला जगत को अपूरणीय क्षति पहुंची है। ईश्वर दिवंगत पुण्यात्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें। मालिनी अवस्थी (Malini Awasthi) ने लिखा कि आज भारतीय संगीत की लय थम गई। सुर मौन हो गए। भाव शून्य हो गए। कथक के सरताज पंडित बिरजू महाराज (Pandit Birju Maharaj) नहीं रहे।जानकारी के लिए बता दें कि बिरजू महाराज (Birju Maharaj) की तबीयत खराब होने के बाद दिल्ली के साकेत अस्पताल में भर्ती कराया गया। लेकिन देर के होने कारण डक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।