पिछले कुछ दिनों से भीषण गर्मी ने हाल बेहाल कर रखा है। तपती धूप ने धरती को आग के गोल की तरह सेक दिया है। मौसम विभाग के मुताबिक कई जगह तापमान में और वृद्धि हुई, जिसके बाद अधिकतम तापमान 45 डिग्री के पार पहुंच गया। पिछले रिकॉर्ड को तोड़ते हुए गुरुग्राम में 45.6 डिग्री सेल्सियस का अब तक का उच्चतम तापमान दर्ज किया गया है।



अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय में व्यापक बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, केरल और लक्षद्वीप में बिजली के साथ छिटपुट बौछारें पड़ने का अनुमान है।


यह भी पढ़ें- Tea Lovers! असम में चाय की इस वायरल वीडियो को जरूर देखें

ओडिशा, उत्तराखंड, कोंकण और गोवा, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, तटीय और उत्तरी आंतरिक कर्नाटक में गरज के साथ छिटपुट वर्षा होने की संभावना है।
हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, लद्दाख में गरज के साथ छिटपुट बारिश/बर्फबारी संभव है।

43.5 डिग्री सेल्सियस पर अप्रैल का सबसे गर्म दिन देखा गया है। मौसम विभाग ने कहा है कि पांच दिनों तक इस भीषण गर्मी से राहत नहीं मिलने वाली है। भीषण गर्मी ने उत्तर प्रदेश में प्रयागराज (45.9 डिग्री सेल्सियस) को झुलसा दिया है। मध्य प्रदेश की बात करें तो खजुराहो (45.6 डिग्री सेल्सियस), नौगॉन्ग (45.6 डिग्री सेल्सियस) और खरगोन (45.2 डिग्री सेल्सियस) है।

यह भी पढ़ें- तेजत अखांग मर्डर के विरोध में सैकड़ों लोगों ने निकाला कैंडल मार्च

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा है कि अगले पांच दिनों तक उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में और अगले तीन दिनों तक पूर्वी भारत में लू का प्रकोप बना रहेगा। मौसम विभाग के अनुसार, अगले दो दिनों के दौरान उत्तर पश्चिम भारत के अधिकांश हिस्सों में अधिकतम तापमान में लगभग दो डिग्री सेल्सियस की वृद्धि होने की संभावना है।