असम के गोलाघाट जिले में पुलिस ने एक 14 वर्षीय लड़के की कथित तौर पर हत्या करने के आरोप में एक मादा हाथी और उसके बछड़े को पकड़ लिया है। पुलिस ने बताया कि 8 जुलाई को गोलाघाट के बोकाखाट इलाके में दुलुमोनी नाम के एक हाथी ने कथित तौर पर लड़के की हत्या कर दी थी। सार्वजनिक आक्रोश के बाद पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 304 ए (लापरवाही से मौत का कारण) के तहत मामला दर्ज किया और मादा हाथी और उसके बछड़े को हिरासत में ले लिया।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि असम के गोलाघाट जिले में पुलिस ने गुरुवार को एक पूर्व विधायक के स्वामित्व वाली एक मादा हाथी और उसके बच्चे को कथित तौर पर 14 वर्षीय लड़के को रौंदने के बाद जब्त कर लिया। पुलिस ने दोनों को जब्त करने के बाद काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान और टाइगर रिजर्व के अधिकारियों को सौंप दिया।

मादा हाथी और उसका बच्चा बोकाखाट से दो बार के पूर्व विधायक जितेन गोगोई के हैं। हालांकि, हथिनी और बच्चे को हिरासत में लिए जाने के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने उनके समर्थन में पोस्ट शेयर किए। कई लोगों ने इसको लेकर मजाकिया मीम्स भी बनाए।

8 जुलाई को गोलाघाट के बोकाखाट इलाके में एक हाथी ने एक 14 साल के लड़के पर हमला कर दिया था, जिसके बाद लड़के की मौत हो गई। घटना के बाद से ही हाथी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग उठने लगी थी। लोगों ने इस घटना को लेकर रोष जताया था। उनका कहना है कि राज्य में हाथियों का आतंक बढ़ने लगा है। इसके खिलाफ पुलिस और वन विभाग को एक्शन लेना चाहिए। पुलिस भी लगातार मामले की जांच में जुटी हुई थी और आज पुलिस ने हाथी और उसके बच्चे को पकड़ लिया।

देश में लगातार हाथियों के हमले बढ़ते जा रहे हैं। इससे जनधन की नुकसान रहा है। कभी हाथी गेहूं, धान फसल और अन्य सामाग्रियों को नुकसान पहुंच रहा है तो सभी लोगों पर हमला कर रहे हैं। हाथियों के हमले के कारण कई लोगों की मौत हो चुकी है।