अवध असम एक्सप्रेस (Avadh Assam Express) एसी बोगी से बरौनी जीआरपी ने कोरिया एवं इंडोनेशिया निर्मित 15 लाख से अधिक मूल्य के प्रतिबंधित विदेशी सिगरेट (banned foreign cigarettes) बरामद किया है। इस मामले में सिगरेट लेकर ट्रेन में यात्रा कर रहे दो रेल यात्रियों को भी गिरफ्तार किया गया है। जिससे पूछताछ के बाद सीमा शुल्क निवारण प्रमंडल मुजफ्फरपुर अधिकारियों के हवाले कर दिया गया है। अब कस्टम के ये अधिकारी इन गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ कर प्रतिबंधित विदेशी सिगरेट के तस्करी के साथ-साथ इसके अलग-अलग शहरों में सप्लाई एवं बिक्री किए जाने वाले रैकेट का पता लगाने का प्रयास करेगी।

थानाध्यक्ष ने बताया कि गिरफ्तार दोनों आरोपी में से एक ने अपने को उत्तर प्रदेश के रामपुर जिला के थाना व गांव टांडा बदली के मो जीमल के 27 वर्षीय पुत्र मंसूर आलम एवं दूसरे ने अपने को उत्तर प्रदेश के रामपुर जिला के टांडा थाना स्थित मोहल्ला युसूफ गांव के मकान सं 26, वार्ड नं 12 के अब्दुल रऊफ के 29 वर्षीय पुत्र फखरूद्दीन बताया है। इसके पूर्व भी अवध असम एक्सप्रेस एसी बोगी से ही उनके सदस्यों ने अलग-अलग ट्रॉली बैग एवं पिट्ठू बैग से प्रतिबंधित विदेशी सिगरेट की बड़ी खेप बरामद की थी। जिसका कस्टम के अधिकारियों ने अंतरराष्ट्रीय बाजार में तकरीबन 10 लाख से अधिक का मूल्य आंकलन किया था। लेकिन इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं बताई गई थी।

इस मामले में बड़वानी जीआरपी के थानाध्यक्ष इमरान अहमद ने बताया कि सुरक्षा एवं मद्य निषेध के मकसद से ट्रेनों में की जा रही जांच के दौरान बरौनी जीआरपी की टीम डिब्रूगढ़ से लालगढ़ जा रही 15909 अप अवध असम एक्सप्रेस की गहन जांच कर रही थी। इसी दौरान ट्रेन के एसी टू टियर के बोगी संख्या ए वन की जांच के दौरान सीट संख्या 21 एवं 22 के नीचे रखे टोली बैग एवं पिट्ठू बैग के संबंध में पूछताछ करने पर उक्त वर्थ पर सफर कर रहे दो रेल यात्रियों ने तो उससे अपना होने की बात स्वीकार की। लेकिन उसके अंदर के सामान के संबंध में पूछे जाने पर उक्त यात्री की घबराहट एवं बयान बदलने से टीम को संदेह हुअा। जिसके बाद निजामत टीम का नेतृत्व कर रहे बरौनी रेल अंचल के पुलिस निरीक्षक राम प्रबोध यादव एवं मद्य निषेध प्रभारी नितेश कुमार ने उक्त दोनों यात्री को ट्रॉली बैग एवं पिट्ठू बैग खोल कर दिखाने का दबाव दिया। पहले तो उक्त यात्रियों ने ट्रेन के विलंब होने व अन्य बहाने बनाकर ट्रॉली बैग खोलने से आनाकानी की।

लेकिन बाद में टीम के लोगों के दबाव पर बैग खोलने पर उसमें बनाए गए बंडल में प्रतिबंधित विदेशी सिगरेट पाया गया। जिसके बाद सिगरेट भरे ट्रॉली बैग व पिट्ठू बैग के साथ दोनों रेल यात्री को गिरफ्तार कर थाना ले आया गया। जहां जांच के दौरान 04 ट्राॅली बैग एवं दो पिठू बैग में कुल 376 पैकेट प्रतिबंधित विदेशी सिगरेट पाया गया। थानाध्यक्ष ने बताया कि बरामदगी के बाद इसकी तत्काल सूचना मुजफ्फरपुर के कस्टम कार्यालय को दी गई। जिसके बाद मौके पर पहुंचे कस्टम इंस्पेक्टर एवं उनकी टीम ने बरामद किए गए उक्त विदेशी सिगरेट की अंतर्राष्ट्रीय बाजार मूल्य का आंकलन करते हुए इसे 15 लाख रुपए से भी अधिक का बताया है।

बरौनी जीआरपी ने सुरक्षा को लेकर ट्रेनों की जांच के दौरान जनहित एक्सप्रेस के साधारण दर्जे की बोगी से 402 बोतल प्रतिबंधित कफ सीरप बरामद किया है। हालांकि ट्रेन से ले जा ले जा रहे इस प्रतिबंधित कफ सीरप की खेप के कारोबारी की तत्काल पहचान नहीं हो पाने के कारण इस मामले में किसी की गिरफ्तारी संभव नहीं हो पाई है। जिस कारण अज्ञात लोगों के विरुद्ध बिहार मद्य निषेध एवं उत्पाद (संशोधित) अधिनियम 2018 के तहत मामला दर्ज कर जांच की जा रही है। इस मामले में बरौनी जीआरपी थाना अध्यक्ष इमरान अहमद ने बताया कि बरौनी जंक्शन के प्लेटफार्म संख्या 5 पर खड़ी 13206 जनहित एक्सप्रेस का निरीक्षण किया जा रहा है।