भारत और पड़ोसी देशों की भलाई के लिए शुक्रवार को एक नई पहल हुई। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने फ्लैश फ्लड (अचानक बाढ़) की पूर्व चेतावनी देने वाला सिस्टम शुरू कर दिया। यह दक्षिण एशिया के चुनिंदा देशों को 24 घंटे से लेकर छह घंटे पहले तक बाढ़ की चेतावनी दे देगा। भारत में यह चेतावनी केंद्र स्थापित करने की जिम्मेदारी विश्व मौसम विज्ञान विभाग सौंपी थी।

भारत अपने पड़ोसी देशों के साथ बाढ़ संबंधी उपायों के समन्वय, विकास और उन्हें लागू करने में अहम भूमिका निभाएगा। मौसम विज्ञान केंद्र महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने इस सिस्टम की आनलाइन लांचिंग के मौके पर कहा कि इससे सदस्य देशों भारत, श्रीलंका, बांग्लादेश, नेपाल और भूटान को बाढ़ संबंधी सूचनाएं मिल सकेंगीं। लांचिंग के मौके पर सदस्य देशों के प्रतिनिधि भी मौजूद रहे।

उल्लेखनीय है कि फ्लैश फ्लड (अचानक बाढ़) तेज बारिश शुरू होने के छह घंटे के भीतर भी आ सकती है। अभी दुनिया भर में कई देशों में फ्लैश फ्लड की चेतावनी देने की व्यवस्था नहीं है। इस कमी को पूरा करने के लिए विश्व मौसम विज्ञान आयोग ने वैश्विक स्तर पर इस तरह के चेतावनी केंद्र स्थापित करने को मंजूरी दी थी। यह सिस्टम विश्व मौसम विज्ञान आयोग ने अमेरिकी मौसम एजेंसियों के सहयोग से विकसित किया है।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग की उच्च स्तरीय दक्षता को देखते हुए यह सिस्टम भारत में लगाने का फैसला किया गया। बीते मानसून में भारत ने इस सिस्टम का परीक्षण किया था। मौसम विज्ञान विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक बीपी यादव ने बताया कि यह सिस्टम उच्च तकनीक पर आधारित है। इससे सदस्य देशों को बाढ़ से सतर्क होने की समय से सूचना मिलेगी।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने शुक्रवार को चेतावनी दी है कि बंगाल की खाड़ी में बने विक्षोभ से पूर्वोतर के राज्यों त्रिपुरा, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, असम और मेघालय में तेज बारिश के आसार बन गए हैं। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार को बंगाल की खाड़ी में बने विक्षोभ ने बंगाल के सागर द्वीप और बांग्लादेश के खेपूपारा को पार किया। इसके चलते तेज हवाएं और भारी बारिश के आसार बने हैं।

मौसम विभाग की एक और पूर्व सूचना के अनुसार आंध्र प्रदेश के रायलसीमा इलाके में दूरदराज के क्षेत्रों में भारी बारिश के आसार बने हैं। अनुमान के अनुसार शनिवार सुबह आठ बजे तक इस इलाके में तेज बारिश हो सकती है। इसी तरह इस इलाके में रविवार की सुबह भी बारिश के आसार बनेंगे।