केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने मंगलवार को कहा कि वह पश्चिम बंगाल और असम में एक टीम भेजेगा जो इन दोनों राज्यों में होने वाले चुनावों में लोगों से ‘किसान-विरोधी” भाजपा को वोट न देने की अपील करेगी।

किसान नेता दर्शन पाल सिंह ने एक बयान में कहा कि यह यात्रा तीन दिन की होगी जो 12 मार्च से शुरू होगी। पाल ने कहा कि टीम में चार-पांच सदस्य होंगे जिनमें वह और योगेंद्र यादव भी शामिल होंगे।

एसकेएम की सदस्य कविता कुरुगांती ने कहा कि इस बारे में समस्त जानकारी बुधवार को मालूम चलेगी। पश्चिम बंगाल और असम में विधानसभा चुनाव 27 मार्च से शुरू होंगे।

एसकेएम ने यह भी कहा कि आंदोलन में अपने ‘प्राण न्यौछावर’ करने वाले किसानों की संख्या मंगलवार को 280 से अधिक हो गई। उसने कहा, “ आज हरियाणा के जींद जिले के किसान 50 वर्षीय राधेश्याम टीकरी बॉर्डर पर शहीद हो गए।”

किसान संगठन ने सोमवार को दिल्ली विश्वविद्यालय में श्रम अधिकार कार्यकर्ता नौदीप कौर पर ‘एबीवीपी’ कार्यकर्ताओं के ‘हमले’ की भी निंदा की।