ईस्टर्न एयर कमांड के एयर ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ (एओसी-इन-सी) एयर मार्शल डी. के. पटनायक ने बेस के रणनीतिक महत्व के साथ-साथ इसके भविष्य के विकासात्मक पहलुओं पर जोर दिया। पटनायक असम में मोहनबाड़ी (डिब्रूगढ़) में वायु सेना स्टेशन के तीन दिवसीय दौरे पर हैं।

ये भी पढ़ेंः अब केरल में भगवा फहराने की तैयारी कर रहे हैं प्रधानमंत्री मोदी, बनाया ऐसा बड़ा प्लान


रक्षा प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल ए. एस. वालिया ने कहा कि एओसी-इन-सी ने सर बेस की परिचालन (ऑपरेशनल) तैयारियों की समीक्षा की और इन अग्रिम ठिकानों पर भारतीय वायुसेना के जवानों द्वारा किए गए अच्छे काम की सराहना की। वायु सेना स्टेशन पर अधिकारियों को संबोधित करते हुए उन्होंने संचालन में उनकी भूमिका से परिचित होने के महत्व पर जोर दिया। उन्होंने सौंपे गए कार्यों को उचित तरीके से पूरा करने के लिए एयर बेस के सभी कर्मियों द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की।

ये भी पढ़ेंः असम मेडिकल कॉलेज का स्मारक डाक टिकट जल्द जारी होगा


पटनायक को स्टेशन के संचालन, रखरखाव और प्रशासनिक तैयारियों के बारे में बताया गया। एयर मार्शल ने विजयनगर और वालोंग में उन्नत लैंडिंग समूहों के लिए आगे बढऩे से पहले वायु सेना स्टेशन की विभिन्न यूनिट्स और सेक्शन (अनुभागों) का दौरा किया।