असम के तेजपुर में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 2.7 थी। भूकंप असम के 49 किमी दक्षिण-पूर्व में तेजपुर आज दोपहर दो बजकर 26 मिनट पर आया। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी ने यह जानकारी दी। हालांकि इस दौरान किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ है। लेकिन दहशत के कारण लोग अपने घरों से बाहर निकल आए।

 इससे पहले 3 जुलाई को मिजोरम के चम्फाई के पास भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए थे। राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 4.6 मापी गई। दोपहर 2:35 बजे चम्फाई के पास लोगों ने भूकंप के तेज झटके महसूस किए थे।

वहीं, शुक्रवार को दिल्‍ली-एनसीआर में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए थे। भूकंप के झटके शुक्रवार शाम 7:02 मिनट पर महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 4.7 मापी गई थी। इसका केंद्र राजस्थान के अलवर में था एवं इसके झटके उत्तर भारत के कई हिस्सों में महसूस किए गए। 

ये झटके दिल्ली, नोएडा और गाजियाबाद में भी महसूस किए गए। इससे पहले गुरुवार को लद्दाख में भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 4.5 थी। भूकंप का केंद्र 119 किलोमीटर दूर कारगिल के उत्तर-पश्चिम में था। ये भूकंप गुरुवार दोपहर एक बजकर 11 मिनट पर आया। लद्दाख में पिछले एक हफ्ते के दौरान दूसरी बार भूकंप के झटके महसूस किए गए।

कोरोना वायरस महामारी के बीच लगभग रोजाना देश के किसी ना किसी राज्‍य में भूकंप के झटके महसूस किए जा रहे हैं। खास कर उत्तरी और पूर्वी भारत में लगातार भूकंप के झटके महसूस किए जा रहे हैं। जम्मू-कश्मीर में पिछले एक महीने के दौरान 5 बार भूकंप के झटके महसूस किए जा चुके हैं। 

पिछले हफ्ते में मिजोरम में लगातार तीन दिनों तक भूकंप के झटके महसूस किए गए। पिछले हफ्ते भूकंप के झटके हरियाणा और दिल्ली के बाहरी इलाकों में भी महसूस किए गए है। अप्रैल से लेकर जून 2020 में दिल्ली-एनसीआर में दर्जनभर से ज्यादा बार मध्यम और कम तीव्रता वाले भूकंप आ चुके हैं।