आज से देश में कोने-कोने तक कोरोना वैक्सीन पहुंचाने की तैयारियां शुरू हो जाएंगी। पंजाब, असम, आंध्र प्रदेश और गुजरात में कोरोना वैक्सीन से पहले तैयारियों का जायजा लेने के लिए दो दिवसीय ड्राई रन आज से किया जाएगा। 

इन चारों राज्यों के दो जिलों में पांच जगहों पर यह ड्राई रन किया जाएगा। इस ड्राई रन का मकसद वैक्सिनेशन से पहले सारी तैयारियों का जायज़ा लेने और कोई कमी हो तो उसमे सुधार करना है। 

साथ ही प्लैनिंग, इंप्लीमेंटेशन या रिपोर्टिंग मैकेनिज्म को देखना और उसमें सुधार करना भी है। ड्राइ रन में कोरोना वैक्सीन के लिए कोल्ड स्टोरेज और परिवहन व्यवस्था, परीक्षण सत्र स्थलों पर भीड़ का प्रबंधन, सोशल डिस्टेंस जैसे अहम मुद्दे शामिल होंगे।

इस दौरान वैक्सीन देने के लिए खास तौर पर बनी Co-WIN एप की ऑपरेशनल फीसिबिल्टी, फील्ड प्लानिंग और इंप्लीमेंटेशन चेक किया जाएगा। ये तरह की मॉक ड्रिल होगी। इस दौरान सब कुछ वैसे ही किया जाएगा जैसे वैक्सिनेशन के दौरान होगा, लेकिन वैक्सीन नहीं दी जाएगी।

क्या  होगा इस दौरान

प्लांनिंग और तैयारी करना।

Co Win ऐप एप्लीकेशन टेस्ट करना और आए हैल्थ केयर वर्कर का डाटा अपलोड करना।

सेशन प्लांनिंग और वैक्सीनेटर डिप्लॉयमेंट।

वैक्सिनेशन साइट पर वैक्सीन लाना और लॉजिस्टिक चेक करना और उसे Co Win एप के जरिए देना।

सेशन साइट पर वैक्सिनेशन करना और रिपोर्ट करना।

इसके बाद ब्लॉक, जिला और स्टेट रिव्यू मीटिंग करके फीडबैक देना होगा और अगर कहीं कमी होती है तो उसे रिपोर्ट किया जाएगा। ड्राई रन के लिए वैक्सीनेटर (एएनएम) के लिए Co-WIN (www.Uat.co-vin.in) और (www.app.uat.co-vin.in) का परीक्षण लिंक तैयार रखा जाएगा।