असम के जोरहाट में निमाती घाट के पास दुर्घटना में हुई नाव में की लोग लापता थे। कईयों को रेस्क्यू किया जा चुका है लेकिन की लोग अभी भी लापता है। इनमें माजुली के एक डॉक्टर भी शामिल थे। नाव यात्री इंद्रेश्वर बोरा का शव बरामद होने के बाद, एक अन्य यात्री डॉ. बिक्रमजीत बरुआ का शव निचले माजुली में ब्रह्मपुत्र नदी में बरामद किया गया है।

काली शर्ट के साथ शव की पहचान माजुली के डॉक्टर डॉ. बिक्रमजीत बरुआ के रूप में हुई है। 8 सितंबर, 2021 को हुए हादसे के दौरान डॉ. बरुआ भी नाव पर सवार थे। घटना के बाद उनके लापता होने से सनसनी मच गई। माजुली जिले के उच्च स्तरीय अधिकारियों की मौजूदगी में शव की पहचान की गई है।


अधिकारियों की एक टीम माजुली के भेकली चापोरी में मौके पर पहुंची, जहां स्थानीय लोगों ने शव को देखा। बिक्रमजीत बरुआ जोरहाट के बोरीगांव के रहने वाले डॉ. बरुआ ईएनटी विशेषज्ञ थे। उनके परिवार में पिता, पत्नी डॉ. अरुणिमा बोरा और दो बच्चे हैं। इस बीच, विश्वनाथ के भसतापु में डॉ. बरुआ का आरसी, आईडी कार्ड वाला बैग बरामद किया गया है।