आगामी असम विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस को कार्यकर्ता झटके पर झटका देते जा रहे हैं। हाल ही में असम के डिगबोई विधानसभा सीट के लिए टिकट ना मिलने के कारण के डिगबोई के कांग्रेस नेता गौतम धनोवर ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। गौतम धनोवर पूर्व कांग्रेस मंत्री और दिग्बोई विधायक रामेश्वर धनोवा के पुत्र हैं। वैसे उनके भाई मनोज धनोवर को लाहौल विधानसभा सीट के लिए टिकट मिला है।


टिकट ना मिलने के कारण नाराज गौतम धनोवर ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने असम प्रदेश कांग्रेस समिति (APCC) के अध्यक्ष को एक पत्र भेजा। बता दें APCC ने डिगबोई विधानसभा सीट से लड़ने के लिए एक युवा कांग्रेस नेता सिबनाथ चेतिया को टिकट दिया है। भाजपा के विधायक सुरेन फुकन को दूसरी बार डिगबोई सीट के लिए टिकट मिला है।


नाराज गौतम धनोवर ने अपने फेसबुक पेज में लिखा कि  “मेरे पास डिगबोई LAC के विधायक टिकट के बारे में कोई सवाल नहीं है। लेकिन मुझे दर्द तब हुआ जब पार्टी पदानुक्रम ने भी मेरी राय लेने की जहमत नहीं उठाई, क्योंकि मुझे डिगबोई LAC में जीतने की रणनीति बनाने के लिए किसी भी चर्चा में शामिल करने के लिए मैंने APCC में एक पोर्टफोलियो रखा था। "


उन्होंने यह भी लिखा है कि "डिगबोई सीट के बारे में गुवाहाटी राजीव भवन में लगातार बैठक हो रही थी, लेकिन मुझे न तो सूचित किया गया और न ही बैठक में भाग लेने के लिए कहा गया।" धनोवर ने कहा कि “मैं अपनी किशोरावस्था से ही कांग्रेस का ईमानदार और समर्पित कार्यकर्ता हूं। लेकिन अब पार्टी को मेरी या मेरी सेवा की आवश्यकता नहीं है। ”