बिश्वनाथ के नवनियुक्त उपायुक्त (Deputy Commissioner) देबा कुमार मिश्रा

(Deba Kumar Mishra) ने जिला विकास समिति (DDC) की बैठक की अध्यक्षता की,

जहां उन्होंने विभिन्न विभागों के काम की समीक्षा की है।
बैठक में सभी विभागों के प्रमुख उपस्थित थे और उन्होंने उपायुक्त को उनके क्रियान्वयन के तहत विभिन्न परियोजनाओं और योजनाओं की प्रगति की विस्तृत रिपोर्ट दी। बैठक सकोमाथा प्रखंड विकास कार्यालय में हुई। उपायुक्त (Deputy Commissioner) ने विभागीय प्रमुखों से कहा कि जिले भर में परियोजनाओं और योजनाओं के क्रियान्वयन में तेजी लाने के लिए व्यक्तिगत रुचि लें।
मिश्रा ने कहा कि "मेरा मकसद जिले का विकास करना है। आप सभी को अपने कर्तव्यों के प्रति ईमानदार होना होगा। हमें लोगों के करीब जाना होगा ताकि सरकार और प्रशासन का लाभ उन तक पहुंचे।" समीक्षा की गई योजनाओं के बीच, DC ने जिले में रोप-वे परियोजना, जल जीवन मिशन (JJM), मेडिकल कॉलेज के निर्माण, सिंचाई परियोजनाओं के तेजी से और कुशल कार्यान्वयन पर जोर दिया।
बिश्वनाथ जिले के चाय बागान क्षेत्रों में बच्चों में कुपोषण की समस्या को गंभीरता से लेते हुए नवनियुक्त उपायुक्त ने इस मुद्दे के समाधान के लिए एक उचित रोड मैप तैयार करने के लिए एक समिति के गठन के निर्देश दिए।
समिति में स्वास्थ्य विभाग, समाज कल्याण विभाग (social welfare department) और शिक्षा विभाग के अधिकारी शामिल होंगे। उन्होंने ऑनलाइन आवेदन दाखिल करने में युवाओं की सहायता के लिए रोजगार कार्यालयों में एक हेल्प डेस्क स्थापित करने के निर्देश भी जारी किए।