लालगढ़ से चलकर गुवाहटी को जाने वाली 05910 अवध असम स्पेशल (Avadh Assam Special) में एक बच्चे को भटिंडा से अपहरण करके ले जाया जा रहा है। इस प्रकार का एक संदेश रेलवे कंट्रोल की ओर से बरेली आरपीएफ व जीआरपी को देते हुए सघन जांच के आदेश दिए गए। जीआरपी के प्रभारी उप निरीक्षक टीकम सिंह ने स्टेशन अधीक्षक को मामले की जानकारी दे ट्रेन को जांच के लिए अतिरिक्त समय रोके जाने की मांग की। गुरुवार दोपहर 1.30 बजे जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर एक पर पहुंची अवध असम स्पेशल के प्रत्येक कोच के साथ उनके बाथरूम की भी जांच की गईं । जीआरपी ने वेंडरों की मदद से एस-6 कोच से बच्चे को बरामद कर लिया।

मुरादाबाद जीआरपी पुलिस अधीक्षक अपर्णा गुप्ता के निर्देश देते हुए बताया कि जैसनप्रित पुत्र प्रितम सिंह निवासी गोलडिग्गी बल्लुआना थाना भटिंडा का अपहरण कर ट्रेन से ले जाए जाने की बात कहते हुए ट्रेन को पूरी तरह चेक किये जाने के निर्देश दिए। आरपीएफ व जीआरपी को कंट्रोल से 17 वर्षीय बच्चे का फोटो व आधार भेजा गया। जिसे जंक्शन के सभी वेंडरों को दिखाया गया।

वेंडर राम गोपाल व संतोष ने बच्चे को स्लीपर कोच एस6 में बैठा देख कोच की जांच कर रहे जीआरपी उप निरीक्षक सुल्तान अहमद पाशा से पहचान करा उसे ट्रेन से नीचे उतारा। बच्चे को बरामद करने वालो में जीआरपी के ज्ञानेंद्र कुमार सिंह, मो. कामिल पाशा, हरगोविंद, भुवनेश, तौकीर अली, शशिकुमार समेत सभी ने कोच की जांच की।

पूछताछ में जीआरपी को बताया कि मंगलवार देर रात दो बजे वह ट्रेन में हाजीपुर दोस्त से मिलने के लिए बैठा था। ट्रेन में बैठते ही उसने अपना मोबाइल स्विच ऑफ कर दिया। जिसके बाद शक होने पर स्वजनों ने अपहरण होने की जानकारी रेलवे को दी।