हाल ही में इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट का ऐलान करने वाले भारत के पूर्व ऑलराउंडर स्टुअर्ट बिन्नी असम रणजी ट्रॉफी टीम के अस्टिटेंट कोच होंगे। उन्होंने इस बात की जानकारी अपने सोशल मीडिया पर दी है। बिन्नी ने संन्यास लेने के बाद ही कोचिंग को लेकर अपनी इच्छा जाहिर की थी। स्टुअर्ट बिन्नी ने अपने इंटरनेशनल करियर में टीम इंडिया के लिए 6 टेस्ट, 14 वनडे और तीन टी-20 मैच खेले। 2016 के बाद से भारतीय टीम में अपनी जगह बनाने में नाकाम रहने के बाद बिन्नी ने बतौर खिलाड़ी क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। 

स्टुअर्ट बिन्नी ने अपने इंस्टाग्राम पर खुद की फ्लाइट के  अंदर फोटो शेयर करते हुए लिखा, 'असम रणजी ट्रॉफी टीम के अस्टिटेंट कोच के तौर पर एक नई यात्रा की शुरुआत।' आपको बता दें कि भारत की तरफ से वनडे क्रिकेट में सबसे बेस्ट बॉलिंग फिंगर आज भी स्टुअर्ट बिन्नी के नाम है। उन्होंने 2014 में बांग्लादेश के खिलाफ महज 4 रन देकर 6 विकेट अपने नाम किए थे। स्टुअर्ट बिन्नी ने अपना इंटरनेशनल डेब्यू न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज से किया था। वनडे क्रिकेट में खेले 14 मैचों में बिन्नी ने 28.75 की औसत से कुल 230 रन बनाए और 20 विकेट झटके। टी-20 में इस ऑलराउंडर का प्रदर्शन हालांकि कुछ खास नहीं रहा और 3 मुकाबलों में उन्होंने सिर्फ 35 रन बनाए। वहीं, गेंदबाजी में भी वह क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में एक ही विकेट निकाल सके। टेस्ट क्रिकेट में बिन्नी ने इंग्लैंड के खिलाफ 2014 में अपना डेब्यू किया और इस फॉर्मेट में 194 रन बनाने के साथ-साथ 3 विकेट चटकाए। 

कर्नाटक के इस पूर्व ऑलराउंडर के पास आईपीएल में खेलना का भी काफी अनुभव मौजूद है। बिन्नी ने अपने रिटायरमेंट की घोषणा करते हुए कहा था, ' 'मैं आपको सूचित करना चाहता हूं कि मैंने फर्स्ट क्लास और इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लेने का फैसला किया है।' उन्होंने कहा, ''इंटरनेशनल स्तर पर देश का प्रतिनिधित्व करने से मुझे बहुत खुशी मिली और मुझे इस पर गर्व है।'