देश और दुनिया में कोरोना के अच्छे खासे तांडव के बाद वैक्सीन ही एक मात्र सहारा दिखाई पड़ता है लेकिन कई जगह इसकी भी किल्लत मुसीबत बन गई है। वहीं असम सरकार ने भी कोवैक्सीन टीके की किल्लत के चलते इसकी पहली खुराक देनी बंद कर दी है और अब उन 1.50 लाख लोगों को प्राथमिकता प्रदान करेगी, जिन्हें इस टीके की दूसरी खुराक लेनी है। 

राज्य के एक मंत्री ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री केशव महंत ने कहा कि राज्य में कोवैक्सीन टीकों का स्टॉक फिलहाल 20 हजार है और अगले कुछ दिन में राज्य को 50 हजार खुराकें और मिलेंगी।

दरअसल यहां वैक्सीन की कमी के चलते कई लोगों का वैक्सीन के दूसरे शॉट का स्लॉट मिस हो गया। इसके मद्देनजर ही राज्य सरकार ने लोगों पहला डोज देना बंद कर दिया है। हालांकि, केशव महंत ने कहा कि उन लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है जिन्हें इस टीके की दूसरी खुराक लेनी है क्योंकि दूसरी खुराक लेने की मियाद को 28 से बढ़ाकर 42 कर दिया गया है और उन्हें तय समयसीमा के भीतर टीका लग जाएगा। 

मंत्री ने कहा कि शुक्रवार तक राज्य को 15 हजार और खुराकें मिली हैं। महंत ने कहा कि असम में कोविशील्ड टीके की 3.20 लाख खुराकें उपलब्ध हैं और टीकाकरण तय कार्यक्रम के अनुसार चलता रहेगा.