असम में कोरोना वायरस के मरीज की पत्नी भी संक्रमित हो गई है। इसके साथ संक्रमितों की कुल संख्या 32 तक पहुंच गई है। असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंत विश्व सरमा ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित एक व्यक्ति की पत्नी भी इस खतरनाक वायरस से संक्रमित पाई गईं। राज्य में इसके साथ ही संक्रमित लोगों की संख्या 32 तक पहुंच गई है, जिसमें से एक व्यक्ति की मौत हो गई है।



सरमा ने ट्वीट किया, ‘‘धुबरी की एक महिला कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गई। वह उस संक्रमित व्यक्ति की पत्नी हैं जिसका संबंध निजामुद्दीन मरकज और गुवाहाटी के अठगांव कब्रिस्तान जमावड़े से है।’’ कोरोना वायरस से संक्रमित तीन लोगों ने अठगांव कब्रिस्तान मस्जिद में 12 मार्च को एक धार्मिक जमावड़े में हिस्सा लिया था। इसके बाद सरकार ने इस क्षेत्र को बंद करके इसे संक्रमण की अधिकता वाला क्षेत्र घोषित कर दिया था।
धुबरी जिले से संक्रमण का यह चौथा मामला है जबकि राज्य में यह छठी महिला हैं जो संक्रमण से पीड़ित हैं और इन सभी का संबंध दिल्ली में हुए तबलीगी जमात के कार्यक्रम से है। असम में 32 में से 31 संक्रमित व्यक्ति का संबंध तबलीगी जमात कार्यक्रम से है। सरमा ने बताया कि राज्य में कोविड-19 संक्रमण के 33 मरीजों का इलाज चल रहा है जिनमें से एक व्यक्ति नगालैड का है। उसे गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एंड अंस्पताल में भर्ती किया गया है।
मंत्री ने बताया कि असम में 3,209 नमूनों की जांच हुई जिनमें से 1,421 लोगों का संबंध निजामुद्दीन मरकज से है। इसमें से 31 लोग संक्रमित पाए गए और 32 के परिणाम की प्रतीक्षा हो रही है। उन्होंने बताया कि दिल्ली के निजामुद्दीन के धार्मिक सम्मेलन में हिस्सा लेने वाले लोग पृथक वास में रह रहे हैं। मंत्री ने बताया कि राज्य में कोविड-19 मरीजों में से एक को छोड़कर (कैंसर का मरीज) सभी की हालत स्थिर है और अगर इन लोगों की हालत आगे नहीं बिगड़ती है तो उन्हें बुधवार के बाद धीरे-धीरे अस्पताल से छुट्टी दी जाएगी। राज्य में सबसे ज्यादा नौ मामले गोलाघाट जिले से आए हैं।