असम में नई सरकार की कमान संभालने के बाद मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने अब कोविड के खिलाफ जंग तेज़ कर दी है। मंगलवार को मुख्यमंत्री ने बताया कि कोविड के कारण असम में हालात भयावह होते जा रहे हैं, ऐसे में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने की जरूरत है। इसी के लिए अब हिमंत बिस्व सरमा ने आम लोगों से मदद मांगी है। अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए हिमंत बिस्व सरमा ने लोगों से मुख्यमंत्री राहत कोष या असम आरोग्य अकाउंट में मदद देने की अपील की है, ताकि कोरोना के खिलाफ जंग में काम किया जा सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस महामारी ने असम के सामने बड़ी चुनौती रख दी है, ऐसे में मानवता को बचाने के लिए हमें बड़े कदम उठाने होंगे। हमारी सरकार लगातार मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने में लगी हुई है, आईसीयू बेड्स, कोविड केयर सेंटर्स की संख्या को बढ़ाया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आप रिलीफ फंड में जो मदद करेंगे, उसे कोरोना के खिलाफ जंग में इस्तेमाल किया जाएगा। सभी दानदाताओं की सूची सार्वजनिक की जाएगी, मदद को इनकम टैक्स में छूट मिलेगी। आपको बता दें कि भाजपा सरकार के पिछले कार्यकाल में हिमंत बिस्व सरमा जब स्वास्थ्य मंत्री थे, तब भी उन्होंने ऐसी ही अपील जनता से की थी। 

बीते साल सितंबर में राज्य सरकार ने जानकारी दी थी कि असम आरोग्य निधि अकाउंट में 50 हज़ार से अधिक लोगों ने सहायता दी, जिनकी मदद से कुल 116 करोड़ रुपये इकट्ठा हुए। गौरतलब है कि हाल ही के दिनों में असम में कोरोना की रफ्तार बढ़ी है, यहां औसतन हर दिन पांच हज़ार केस आ रहे हैं। असम में इस वक्त 45 हज़ार से ज्यादा एक्टिव केस हैं।