असम राज्य के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा (Himanta Biswa Sarma) की पत्नी और बेटे के खिलाफ गरीबों की जमीन हड़पने का आरोप लगाया गया है। जिससे कई विपक्ष पार्टियों ने आरोपों की न्यायिक जांच की मांग की  है। इस कड़ी में असम में कांग्रेस पार्टी ने कामरूप-ग्रामीण जिले के उपायुक्त (deputy commissioner) को एक ज्ञापन सौंपा है, जिसमें असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा के परिवार द्वारा "भूमि हड़पने" के आरोपों की न्यायिक जांच की मांग की गई है।
असम कांग्रेस ने बताया कि "कामरूप-आर जिला कांग्रेस कमेटी ने कामरूप-आर DC को ज्ञापन सौंपा, जिसमें आरबीएस रियल्टर्स और सीएम हिमंत बिस्वा सरमा के परिवार के (कथित) भूमि घोटाले के खिलाफ न्यायिक जांच की मांग की गई है।"
ज्ञापन सौंपने वाले कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व असम कांग्रेस महासचिव अपूर्व कुमार भट्टाचार्य (Apurba Kumar Bhattacharya), बालिका पेगू, कंकन दास और घनश्याम कलिता ने किया। कथित "जमीन हथियाने" की खबर पहली बार सामने आने के बाद से ही विभिन्न तबकों से आरोपों की जांच की मांग की जा रही है।

प्रख्यात विद्वान डॉ हिरेन गोहेन (Dr Hiren Gohain) ने भी असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के परिवार से जुड़े कथित भूमि हड़पने के घोटाले की जांच की मांग की है।  
“समाचार रिपोर्टों में पर्याप्त जानकारी है, जिसके आधार पर जांच की जा सकती है। जांच कथित घोटाले में सच्चाई सामने लाएगी, ”।