राहुल गांधी की सीएए विरोधी आवाज को आगे बढ़ाने के लिए असम कांग्रेस के सदस्यों ने अब तक एक लाख से अधिक ‘गामोशा’ एकत्र कर लिए हैं जिनपर संशोधित नागरिकता कानून विरोधी संदेश लिखे हैं। कांग्रेस ने कहा है कि अगर वह राज्य में सत्ता में आती है तो वह ‘शहीद स्मारक’ स्थापित करेगी जिसपर ये गामोशे प्रदर्शित किए जाएंगे।

पार्टी कार्यकर्ताओं ने घर-घर जाकर ‘गामोशा’ एकत्र किए हैं। पार्टी प्रवक्ता बबीता शर्मा ने बुधवार को कहा कि कानून के खिलाफ असंतोष व्यक्त करने के लिए अनेक लोगों ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को खुद ही ‘गामोशा’ भेंट किए हैं। कांग्रेस के विभिन्न नेताओं ने एकत्र किए गए ‘गामोशा’ की सोशल मीडिया पर तस्वीरें पोस्ट कीं।

शिवसागर में रैली के दौरान सीएए के खिलाफ राहुल गांधी के आह्वान के बाद प्रदेश इकाई ने सीएए विरोधी संदेश लिखे ‘गामोशा’ एकत्र करने के लिए अभियान शुरू किया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा ने कहा, ‘‘यह प्रसन्नता की बात है कि पिछले कुछ दिनों में ही हमने सीएए विरोधी संदेश लिखे एक लाख से अधिक गामोशा एकत्र कर लिए हैं।’’ असम में इस साल मार्च-अप्रैल में विधानसभा चुनाव होना है।