राज्यसभा 2022 के आगामी द्विवार्षिक चुनावों से पहले असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने दावा किया कि कांग्रेस के अधिकांश विधायक सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होने के इच्छुक हैं और सरकार के साथ लगातार संपर्क कर रहे हैं। इससे पहले कई कांग्रेस नेता भाजपा का दामन थाम चुके हैं।

 
अतुल बोरा, भावेश कालिता और प्रमोद बोरा ने आज नामाकंन दाखिल कर दिया है। सरमा ने 2 राज्यसभा सीटों के साथ भाजपा की जीत पर विश्वास व्यक्त किया, जो चुनाव के लिए हैं।


यह भी पढ़ें- पुतिन को ‘साइको’ बताने वाली रूसी मॉडल की सूटकेस में मिली लाश, मच गया बवाल

बिस्वा ने बताया कि “कांग्रेस के कई विधायक भाजपा में शामिल होने की योजना बना रहे हैं। राज्यसभा चुनाव में उम्मीदवारों को पार्टी के व्हिप का पालन करने की भी आवश्यकता नहीं होती है। हम इस गणना के आधार पर दोनों सीटें हासिल करने में सक्षम होंगे "।
यह भी पढ़ें- जहर से बर्बाद होगा पूरा यूक्रेन, रूसी सैनिकों ने कर दिया ऐसा कांड, घूट घूट कर लोगों की होगी मौत


भाजपा ने पबित्रा गोगोई मार्गेरिटा को अपना उम्मीदवार बनाया है, जबकि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (INC) ने असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी (APCC) के अध्यक्ष रिपुन बोरा को चुना है। यह ध्यान देने योग्य है कि भारत के चुनाव आयोग (ECI) ने हाल ही में 31 मार्च को पूर्वोत्तर भारत के तीन राज्यों - असम, नागालैंड और त्रिपुरा के तीन राज्यों सहित छह राज्यों की 13 सीटों पर द्विवार्षिक चुनावों की घोषणा की।
जानकारी के लिए बता दें कि 14-21 मार्च से नामांकन दाखिल करने का समय निर्धारित किया गया है। 22 मार्च को नामांकनों की जांच होगी और 24 मार्च को नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि निर्धारित की गई है। 31 मार्च 2022 मतदान किए जाएंगे।