असम में आगामी विधानसभा चुनाव अप्रैल मई में होने वाले हैं। इन चुनाव के लिए हर राजनैतिक दल लोगों के लुभाने के लिए कई तरह के वादे कर रहे हैं। राज्य सत्तारूढ़ सरकार की बात करें तो असम में हाल ही में असमिया लोगों के लिए कई तरह की परियोजनाओं को शुरू किया है। साथ ही विपक्ष की बात करें तो कांग्रेस ने राज्य में आगामी विधानसभा चुनावों के लिए अपना 'अक्सोम बसांव अहोक' अभियान शुरू किया है। असम में कांग्रेस पार्टी का 'एक्सोम बसोन अहोक' अभियान गुवाहाटी के राजीव भवन में शुरू किया गया।


कांग्रेस के इस कार्यक्रम में APCC  अध्यक्ष रिपुन बोरा, लोकसभा सांसद गौरव गोगोई और प्रदीप बोरदोलोई, अखिल भारतीय महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुष्मिता देव, शामिल हैं। असम में सीएलपी नेता देवव्रत सैकिया और असम के पूर्व मंत्री रॉकीबुल हुसैन अभियान के शुभारंभ कार्यक्रम में उपस्थित थे। महापुरुष सिरमांत सांकड़देव की जन्मस्थली नागांव जिले के बोरदुआ में किक-स्टार्ट के साथ 'एक्सोम बसोन अहोक' 12 फरवरी से शुरू होगी।


लोकसभा सांसद प्रद्योत बोरदोलोई ने 'एक्सिस बासोन अहोक' अभियान के लॉन्चिंग इवेंट में कहा कि सत्ताधारी भाजपा बीजेपी असम के सामाजिक ताने-बाने को नष्ट किया है इसकी के साथ कहा कि असम की संस्कृति और इतिहास को नष्ट करने की धमकी दी है। लोकसभा सांसद गौरव गोगोई ने कहा है कि राज्य में भाजपा की अगुवाई वाली सरकार के असम को बचाने का समय आ गया है। इन्होंने कहा कि गरीब गरीब होते जा रहे हैं, अमीर अमीर होते जा रहे हैं। यह भाजपा सरकार का कुशासन है।